nayaindia Voting for general election in Nepal नेपाल में आम चुनाव के लिए मतदान जारी
kishori-yojna
विदेश| नया इंडिया| Voting for general election in Nepal नेपाल में आम चुनाव के लिए मतदान जारी

नेपाल में आम चुनाव के लिए मतदान जारी

काठमांडू। नेपाल (Nepal) में संघीय संसद और सात प्रांतीय विधानसभाओं की 275 सीटों वाली नई प्रतिनिधि सभा के चुनाव के लिए रविवार को मतदान जारी है। समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, लगभग 17.988 मिलियन मतदाता निचले सदन के 275 सदस्य और सात प्रांतीय विधानसभाओं के 550 सदस्यों को चुनेंगे। मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ और शाम पांच बजे तक जारी रहेगा। चुनाव आयोग (Election Commission) के उप प्रवक्ता सूर्य आर्यल (Surya Aryal) ने शिन्हुआ से कहा, पूरे देश में मतदान शांतिपूर्वक शुरू हो गया है। उन्होंने कहा, हमें पूरे दिन मतदान सुचारू रूप से चलने की उम्मीद है।

नेपाल ने एक मिश्रित चुनावी प्रणाली को अपनाया है, जिसमें निचले सदन और प्रांतीय विधानसभाओं के 60 प्रतिशत प्रतिनिधि फास्ट-पास्ट-द-पोस्ट वोटिंग सिस्टम के माध्यम से चुने जाते हैं, जबकि बाकी 40 प्रतिशत आनुपातिक प्रतिनिधित्व प्रणाली के माध्यम से भरे जाते हैं। निचले सदन की 165 सीटों के लिए फस्र्ट-पास्ट-द-पोस्ट के तहत 2,412 उम्मीदवार और आनुपातिक प्रतिनिधित्व प्रणाली के तहत 110 सीटों के लिए 2,199 उम्मीदवार मैदान में हैं। इसी तरह, 3,224 उम्मीदवार फस्र्ट-पास्ट-द-पोस्ट के तहत सात प्रांतीय विधानसभाओं की 330 सीटों के लिए और आनुपातिक प्रतिनिधित्व प्रणाली के तहत 220 सीटों के लिए 3,708 उम्मीदवार हैं। सत्तारूढ़ गठबंधन से नेपाली कांग्रेस और नेपाल की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी केंद्र) ने चुनाव के लिए पांच-पार्टी चुनावी गठबंधन बनाया है, जबकि नेपाल की कम्युनिस्ट पार्टी (Unified Marxist Leninist) ने भी कुछ सीटों के लिए दूसरों के साथ हाथ मिलाया है।

कुल मिलाकर 7,219 पर्यवेक्षक चुनावों की निगरानी कर रहे हैं। गृह सचिव बिनोद सिंह ने कहा कि स्वतंत्र, निष्पक्ष और पारदर्शी चुनाव सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था की गई है और मतदाताओं से बिना किसी भय के मतदान करने का आग्रह किया। गृह मंत्रालय (Home Ministry) के अनुसार, नेपाल सेना, सशस्त्र पुलिस बल, राष्ट्रीय खुफिया विभाग और अस्थायी पुलिस सहित लगभग 300,000 सुरक्षाकर्मियों को हिमालयी राष्ट्र में तैनात किया गया है। उम्मीद की जाती है कि एफपीटीएस (FPTS) प्रणाली के तहत परिणाम कुछ दिनों के भीतर घोषित किए जाएंगे, जबकि चुनाव आयोग के अनुसार आनुपातिक प्रतिनिधित्व की मतगणना में कुछ समय लगने की उम्मीद है। (आईएएनएस)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eight + 9 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
दिल्ली में मेयर का चुनाव छह फरवरी को
दिल्ली में मेयर का चुनाव छह फरवरी को