इजराइल-हमास की जंग में 183 की मौत - Naya India
विदेश| नया इंडिया|

इजराइल-हमास की जंग में 183 की मौत

यरुशलम। इजराइल और हमास के बीच पिछले सात दिनों से जारी जंग में रविवार शाम तक 183 लोगों की मौत हो चुकी है। इसमें 47 बच्चे शामिल हैं। मरने वालों में 10 इजराइली और बाकी 174 फिलस्तीनी हैं। इस जंग में अब तक 12 सौ से ज्यादा लोग घायल हुए हैं, जिनका इलाज चल रहा है। बताया जा रहा है कि हमास ने इजराइल के शहरों पर अब तक ढाई हजार से ज्यादा रॉकेट दागे हैं। तो इसके जवाब में इजराइली डिफेंस फोर्स यानी आईडीएफ ने गाजा पट्टी पर सात सौ से ज्यादा हवाई हमले किए।

शनिवार को आईडीएफ ने हवाई हमला करके हमास के चीफ याहया सिनवार के घर को तबाह कर दिया। शनिवार को ही इजराइली हमले में एक 12 मंजिला इमारत तबाह हो गई, जिसमें न्यूज एजेंसी एपी और कतर के चैनल अल जजीरा का दफ्तर था। इस बीच खबर आ रही है कि अमेरिका के दबाव में इजराइल युद्धविराम कर सकता है। हालांकि इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि अंतिम अंजाम तक पहुंचने से पहले हमले बंद नहीं होंगे।

गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन में शुक्रवार को इजराइल के समर्थन में बयान दे दिया था। उन्होंने कहा था कि इजराइल को अपने नागरिकों की रक्षा करने का अधिकार है। इस बयान के बाद उनकी अपनी डेमोक्रेट पार्टी के नेताओं ने ही उन पर सवाल उठाने शुरू कर दिए थे। इस बीच दबाव बढ़ने के बाद उन्होंने शनिवार को फिलस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास और इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से बात की। जनवरी में राष्ट्रपति का पद संभालने के बाद बाइडेन और अब्बास के बीच यह पहली बातचीत है।

इस बातचीत के बाद रविवार को इजराइल के अधिकारियों ने युद्धविराम समझौता होने के संकेत दिए हैं। इससे पहले शनिवार रात फिलस्तीन के गाजा पट्टी से इजराइल पर 55 रॉकेट दागे गए। जवाबी कार्रवाई में रविवार सुबह आईडीएफ ने गाजा पट्टी पर हवाई हमला कर हमास चीफ याहया सिनवार के साथ उसके भाई मोहम्मद सिनवार का घर पर भी तबाह कर दिया। आईडीएफ का आरोप है कि मोहम्मद हमास में भर्ती के लिए लोगों को तैयार करता था। दोनों के घरों का इस्तेमाल हमास के कमांडर्स को छिपाने के लिए भी किया जाता था। आईडीएफ ने बयान जारी कर बताया कि इजराइल के अश्दोद, बेर्शेबा, तेल अवीव और अश्केलान शहर में गाजा पट्टी से रॉकेट दागे गए। हालांकि, ज्यादातर को आयरन डोम की मदद से हवा में ही नष्ट कर दिया गया।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow