nayaindia North Korea-China Train Service उत्तर कोरिया-चीन के बीच मालगाड़ी सेवा दोबारा बहाल
विदेश| नया इंडिया| North Korea-China Train Service उत्तर कोरिया-चीन के बीच मालगाड़ी सेवा दोबारा बहाल

उत्तर कोरिया-चीन के बीच मालगाड़ी सेवा दोबारा बहाल

सियोल। उत्तर कोरिया (North Korea) और चीन (China) के बीच पांच महीने बाद सोमवार को मालगाड़ी सेवा बहाल (Freight Train Service Restored) कर दी गई। दक्षिण कोरिया (South Korea) के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उत्तर कोरिया (North Korea) की अर्थव्यवस्था कोविड महामारी (Covid Pandemic) और संयुक्त राष्ट्र (United Nations) के प्रतिबंधों के चलते प्रभावित हुई है और पुनरुद्धार के लिए संघर्ष कर रही है। उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन (Kim Jong Un) ने पिछले महीने कोविड-19 महामारी से उबरने का संशयपूर्ण दावा करते हुए प्रतिबंधों में ढील देने का आदेश जारी किया था।

उत्तर कोरिया के साथ संबंधों से जुड़े दक्षिण कोरियाई एकीकरण मंत्रालय (South Korean Unification Ministry) ने कहा कि उसने सोमवार को फिर से शुरू हुई उत्तर कोरिया-चीन माल रेलवे सेवा (North Korea-China Freight Railway Service) का आकलन किया। हालांकि, न तो चीन और न ही उत्तर कोरिया ने इसकी पुष्टि की है। एकीकरण मंत्रालय के प्रवक्ता चो जोंगहून (Cho Jonghoon) ने कहा कि रेलगाड़ी सेवा कितने समय तक चलेगी और किस माल की आवाजाही पहले होगी, यह देखा जाना बाकी है।

चीन के विदेश मंत्रालय (Foreign Ministry) के प्रवक्ता वांग वेबिन (Wang Webin) ने इसके बाद दैनिक प्रेसवार्ता में बताया कि चीन और उत्तर कोरिया (North Korea) अपने दो सीमावर्ती शहरों के बीच सीमापार माल आवाजाही को फिर से बहाल करने पर सहमत हुए हैं। हालांकि, उत्तर कोरिया के सरकारी मीडिया ने अभी इसकी पुष्टि नहीं की है। सोमवार की सुबह दक्षिण कोरिया (South Korea) की योनहाप न्यूज एजेंसी ने कहा कि चीन के सीमावर्ती शहर डानडोंग (Dandong) से चली 10 डिब्बे वाली मालगाड़ी को रेलवे पुल पार करके उत्तर कोरिया के सिनुइजु शहर (Sinuiju City) में प्रवेश करते देखा गया। (एपी)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

16 + 14 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
पाकिस्तान की कायराना हरकत, भारत ने मार गिराया घुसपैठिया ड्रोन
पाकिस्तान की कायराना हरकत, भारत ने मार गिराया घुसपैठिया ड्रोन