nayaindia Sri Lanka Insolvent Dearness : कोरोना ने लगा दी खाद्य सामग्रियों के दामों में
विदेश| नया इंडिया| Sri Lanka Insolvent Dearness : कोरोना ने लगा दी खाद्य सामग्रियों के दामों में

Sri Lanka : कोरोना ने लगा दी खाद्य सामग्रियों के दामों में आग, ₹710 किलो मिर्च…

Sri Lanka Insolvent Dearness :

नई दिल्ली | Sri Lanka Insolvent Dearness : भारत का पड़ोसी देश श्रीलंका सब दिवालिया होने के करीब पहुंच चुका है. इसके पीछे का कारण यह है कि यहां के खाने पीने की चीजों में बड़ी बढ़ोतरी हुई है. पिछले कुछ दिनों में श्रीलंका में महंगाई ने लोगों की कमर तोड़ दी है. इस संबंध में श्रीलंका के Advocate Institute ने जो आंकड़े जारी किए हैं उनसे साफ है कि यहां के लोगों पर क्या बीत रही है. जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार श्रीलंका में खाद्यान्न वस्तुओं की कीमत में महज 30 दिनों में 15% तक की बढ़ोतरी हो गई है. इसमें भी सबसे बड़े आश्चर्य की बात यह है कि सब्जियों की कीमत आसमान छू रहे हैं.

₹710 किलो हुई मिर्च

Sri Lanka Insolvent Dearness : Advocate Institue के Bath curry Indicator ने अपने देश के खुदरा वस्तुओं की महंगाई के आंकड़े शेयर की है. इस संबंध में BCI ने बताया है कि नवंबर 2021 से लेकर दिसंबर 2021 में अविश्वसनीय तरीकों से खाद्य सामग्रियों के दामों में इजाफा हुआ है. इसका एक उदाहरण ऐसे समझ सकते हैं कि श्रीलंका में जहां एक सौ ग्राम हरी मिर्च की कीमत ₹18 थी अब यह कीमत बढ़ कर ₹71 हो गई है. इसका मतलब यह हुआ कि 1 किलो हरी मिर्च श्रीलंका में ₹710 किलो बिक रही है.

इसे भी पढ़ें- छत्तीसगढ़: कोरोना के चलते सरकारी कार्यालयों में भी वर्क फ्रॉम होम

क्यों बदहाल हुआ श्रीलंका

Sri Lanka Insolvent Dearness : श्रीलंका के दिवालिया होने के पीछे का कारण कोरोना महामारी है. बताया गया है कि बढ़ता संक्रमण, सरकारी खर्च और टैक्स में लगातार कटौती के कारण यह स्थिति उत्पन्न हो गई है. कोरोना के कारण श्रीलंका का पर्यटन उद्योग लगभग खत्म हो गया है. सरकार का खजाना खाली है और विदेशी कर्ज ओं का बोझ पड़ता जा रहा है. यही कारण है कि श्रीलंका की सरकार चाह कर भी कुछ नहीं कर पा रही है.

इसे भी पढ़ें-अखिलेश यादव के साथ यूपी के चुनावी दंगल में उतरेंगे एनसीपी प्रमुख शरद पवार, इन पार्टियों से भी मांगा साथ

Leave a comment

Your email address will not be published.

eleven − 5 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
भाजपा को सरकार बनाने की जल्दी नहीं, शिवसेना को और कमजोर होते देखना चाहती है…
भाजपा को सरकार बनाने की जल्दी नहीं, शिवसेना को और कमजोर होते देखना चाहती है…