वंदे भारत मिशन में अब तक 1.4 लाख भारतीय लौटे

नई दिल्ली। लॉकडाउन के कारण विदेशों में फंसे भारतीयों को स्वदेश लाने के लिए वंदेभारत मिशन के अंतर्गत अब तक साढ़े चार सौ से अधिक उड़ानों से एक लाख सात हजार से अधिक लोग तथा बंगलादेश, नेपाल एवं भूटान की ज़मीनी सीमा पार कर 32 हजार से अधिक लोग लौट चुके हैं।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने यहां संवाददाताओं से कहा कि सात मई को शुरू हुए वंदे भारत मिशन का दूसरा चरण 17 मई को शुरू हुआ था जो 13 जून तक चलेगा। दूसरे चरण में एयर इंडिया ने 103 उड़ाने भरीं हैं। भारतीय नौसेना के पोतों ने श्रीलंका एवं मालदीव से लोगों को निकाला है।

श्रीवास्तव के अनुसार सात मई से अब तक कुल 454 उड़ानें आयोजित की गयीं हैं जिनमें विदेशी विमान भी शामिल हैं। अब तक एक लाख सात हजार 123 भारतीय लौटें हैं जिनमें 17485 प्रवासी कामगार, 11511 विद्यार्थी और 8633 पेशेवर लोग हैं। 32 हजार से अधिक लोग नेपाल, भूटान एवं बंगलादेश से ज़मीनी रास्ते से लौटें हैं। जबकि वंदे भारत मिशन में कुल तीन लाख 48 हजार 565 लोगों ने बाध्यकारी कारणों के आधार पर स्वदेश लौटने के लिए पंजीकरण कराया है।

प्रवक्ता ने कहा कि गृह मंत्रालय द्वारा 24 मई को जारी दिशानिर्देशों के अनुसार गैर नियमित वाणिज्यिक विमान सेवा को भी अनुमति दी गयी है जिससे चार्टर्ड विमानों एवं एयर एम्बुलेंसों से भी लोग स्वदेश आने आने लगे हैं। उन्होंने बताया कि मिशन के तीसरे चरण की भी घोषणा की गयी है। तीसरे चरण में 31 देशों से 337 उड़ानें आयोजित की जाएंगी जिनसे करीब 38 हजार लोग स्वदेश लाये जाएंगे। इन उड़ानों में 54 उड़ाने अमेरिका से, 24 कनाडा से तथा 11 उड़ानें छह अफ्रीकी देशों से आयोजित की जाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares