nayaindia 121 year record of heat गर्मी का 121 साल का रिकॉर्ड!
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| 121 year record of heat गर्मी का 121 साल का रिकॉर्ड!

गर्मी का 121 साल का रिकॉर्ड!

नई दिल्ली। अभी अप्रैल का महीना शुरू हुआ है और हिंदी पंचांग के हिसाब से चैत्र का महीना चल रहा है लेकिन अभी से चिलचिलाती गर्मी से लोगों का जीना मुहाल हो गया है। इस साल मार्च में होली के पहले से ही गर्मी के तीखे तेवर दिखने लगे थे। अब मौसम विभाग के बकाया है कि इस साल मार्च में तापमान ने 121 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। 1901 के बाद पहली बार मार्च में देश के कई शहरों में तापमान 40 डिग्री के पार पहुंच गया। जलवायु परिवर्तन की वजह से हर मौसम में अतिरेक देखने को मिल रहा है।

बहरहाल, मौसम विभाग के मुताबिक 1901 के बाद इस साल मार्च में औसत अधिकतम तापमान सामान्य से 1.86 डिग्री सेल्सियस ज्यादा था। मौसम विभाग ने कहा है कि अगले कुछ दिन ऐसे ही गर्मी झुलसाती रहेगी। इतना ही नहीं अगले कुछ दिन में देश के नौ राज्यों में लू चलने के आसार हैं। मौसम विभाग के मुताबिक इस साल मार्च महीने में दिन का औसत तापमान 33.01 डिग्री सेल्सियस रहा, जबकि 1901 में औसत तापमान 32.5 डिग्री था।

राजधानी दिल्ली में मार्च में औसत तापमान 36.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ। मौसम विभाग के के मुताबिक अभी सूखी हवा चल रही है और अगले 10 दिनों तक बारिश या नमी के आसार नहीं है। ऐसी स्थिति में तापमान और बढ़ सकता है। मौसम विभाग के मुताबिक इतनी ज्यादा गर्मी इस वजह से भी है क्योंकि इस बार फाल्गुन और चैत्र में होने वाली बारिश अभी तक नहीं हुई है। मौसम विभाग के मुताबिक मार्च में इस साल औसतन 8.9 मिलीमीटर बारिश हुई है, जो कि अनुमानित औसत से 70 फीसदी कम है।

बहरहाल, मौसम विभाग ने अलर्ट जारी करके कहा है कि अगले कुछ दिनों में मध्य प्रदेश, राजस्थान, पूर्वी उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, हरियाणा, दिल्ली, गुजरात, झारखंड और महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र में लू की लहर चल सकती है। विभाग ने इस दौरान लोगों से सतर्कता बरतने की अपील की है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में चार से आठ अप्रैल के बीच तापमान 40 से 41 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की संभावना है।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published.

nineteen + eighteen =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
डॉलर के मुकाबले रुपया नए रिकॉर्ड निचले स्तर पर
डॉलर के मुकाबले रुपया नए रिकॉर्ड निचले स्तर पर