देश में कोरोना के 28 मामलों की पुष्टि

नई दिल्ली। देश में घातक कोरोना विषाणु से संक्रमित 22 नए मामले सामने आने के साथ अब तक 28 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार डॉ. हर्षवर्धन ने बुधवार को कहा कि कोरोना के तीन मामले पहले केरल में सामने आये थे और वे तीनों मरीज ठीक हो चुके हैं। एक मामला तेलंगाना में सामने आया है। इस संबंध में 88 लोगों की जांच की गई थी और वे सभी नकारात्मक पाए गए हैं। कुल मिलाकर 28 मामलों में कोरोना विषाणु की पुष्टि हुई है।

उन्होंने बताया कि इटली से 24 पर्यटकों का एक दल भारत घूमने आया था और इसके एक पर्यटक को जयपुर में बुखार हो गया था जिसकी जांच के बाद वह सकारात्मक पाया गया और फिर जांच में पता चला कि उसकी पत्नी भी संक्रमित है। बाद में इन सभी को भारत तिब्बत सीमा पुलिस के दिल्ली शिविर में लाया गया जहां उस समूह के 14 अन्य लोगों में इस संक्रमण की पुष्टि हुई है और इनके साथ चलने वाले भारतीय चालक में कोरोना वायरस की पुष्टि हो चुकी है। फिलहाल इन सभी को निगरानी में रखा गया है।

यह खबर भी पढ़ें:- पॉलैंड में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया

इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने देश में कोरोना विषाणु से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की। सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि हवाई अड्डों और बंदरगाहों पर छह लाख लोगों की थर्मल जांच की गयी है। इसके अलावा नेपाल और भूटान की सीमा से सटे इलाकों में 10 लाख लोगों की जांच की गयी है और सभी नकारात्मक पाए गये हैं।

दुनिया भर में दहशत का कारण बने कारोना विषाणु से निपटने के लिए सरकार ने हर स्तर पर पुख्ता तैयारी की है और हवाई अड्डों, बंदरगाहों तथा नेपाल एवं भूटान की सीमा से सटे इलाकों में जांच और निगरानी के चाक चौबंद इंतजाम किये हैं। देश में मास्क की कमी होने के संबंधित सवालों पर उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव का एकमात्र तरीका केवल मास्क नहीं है।

कोरोना विषाणु और इसके संबंध में जानकारी देने के लिए सरकार जागरुकता अभियान पर जोर देगी। सामान्य सावधानियां बरते हुए कोरोना से बचाव किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि लोगों को हाथ मिलाने की बजाय ‘नमस्ते’ कहना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश में कोरोना से संदिग्ध प्रभावितों के लिए विशेष शिविर बनाए गये हैं और विदेशों में भारतीय नागरिकों को निकाला जा रहा है। इनमें कुछ विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि सरकार समय समय पर परामर्श कर रही है और आगे भी जारी करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares