चिकित्सकों,नर्सिंगकर्मियों सहित 50 लोगों को पृथकवास में भेजा

बीकानेर। जिले के सरकारी पीबीएम अस्पताल में एक महिला की मृत्यु के बाद चिकित्सकों, नर्सिंगकर्मियों सहित 50 से अधिक लोगों को पृथकवास में और पृथक केन्द्र में भेजा गया है।

अस्पताल में महिला की मौत के बाद कर्मचारियों में दहशत है। उनका कहना है कि जिस महिला का शव परिजनों को सौंपा गया था वह कोरोना वायरस से संक्रमित थी। बीकानेर के पीबीएम अस्पताल प्रशासन ने 60 वर्षीय महिला की मौत के बाद कोरोना वायरस जांच की रिपोर्ट आए बिना ही शव शुक्रवार शाम को उसके परिजनों को सौंप दिया था।

परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार भी कर दिया। इस संबंध में प्रशासन ने विभागीय जांच के आदेश दिये हैं। त्वरित प्रतिक्रिया बल ने मौके पर पहुंच कर महिला के अंतिम संस्कार में शामिल परिजनों को पृथक केन्द्र भेजा। बीकानेर के जिला कलेक्टर कुमार पाल गौतम ने बताया कि मामला प्रकाश में आने के बाद पीबीएम मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य और अस्पताल अधीक्षक से रिपोर्ट मांगी गई है।

बीकानेर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ बी एल मीणा ने बताया कि मृतक महिला के परिवार के 20 सदस्यों, 15 पड़ोसियों और करीब 15 अस्पताल कर्मियों को पृथक केन्द्र में भेजा गया है। उन्होंने बताया कि पीबीएम अस्पताल में रैफर की गई महिला एक निजी अस्पताल में भर्ती थी।

निजी अस्पताल के छह कर्मियों को पृथक वार्ड में भेजा गया है।पीबीएम अस्पताल के अधीक्षक डॉ बी के गुप्ता ने बताया कि ऐहतियात के तौर पर यूनिट के रेजिडेंट चिकित्सकों और नर्सिंगकर्मियों को पृथक वार्ड में भेजा गया है। गुप्ता ने बताया कि इस मामले में लापरवाही हुई है लेकिन शव परिजनों को सभी आवश्यक दिशानिर्देशों के तहत सुपुर्द किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares