5G टेक्नोलॉजी के खिलाफ कोर्ट पहुंची एक्ट्रेस जूही चावला,कहा- हानिकारक प्रभावों पर भी होनी चाहिए थी चर्चा - Naya India
कारोबार | ताजा पोस्ट | देश | मनोरंजन | बॉलीवुड| नया इंडिया|

5G टेक्नोलॉजी के खिलाफ कोर्ट पहुंची एक्ट्रेस जूही चावला,कहा- हानिकारक प्रभावों पर भी होनी चाहिए थी चर्चा

मुंबई । भारत में 5G को लेकर चर्चा जोरों पर है. देश की कई बड़ी टेलीकॉम कंपनियों के साथ हैं नौजवान साथी भी 5G का उपयोग करने के लिए काफी उत्साहित हैं. लेकिन बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री जूही चावला लंबे समय से 5G के हानिकारक प्रभाव का विश्लेषण किए बिना इसे लागू करने पर चिंता जता रही हैं. अब जब 5G देश के बाजारों में आने वाला है उससे ठीक पहले जूही चावला ने इस मामले को अदालत में रखा है. जूही ने भारत में 5G टेक्नोलॉजी को लागू करने के खिलाफ मुंबई की हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की है. मिल रही जानकारी के अनुसार जूही चावला ने कहा है कि क्या भारत में 5G लॉन्च करने की सारी तैयारियां हो चुकी है. जूही ने कहा है कि अगर सारी तैयारियां हो चुकी है तो क्या 5G से होने वाले हानिकारक प्रभावों पर भी चर्चा कर ली गई है.

यह है जूही चावला की चिंता का कारण

दरअसल, 5जी की लॉन्चिंग को लेकर जूही चावला इसलिए परेशान है क्योंकि उनका मानना है कि 5G के कारण radio-frequency और ज्यादा बढ़ाई जाएगी. जूही चावला का मानना है कि इससे संभावित हानिकारक प्रभाव हो सकते हैं. जूही का कहना है कि इससे प्रत्यक्ष रुप में तो कुछ भी पता नहीं चलता लेकिन अप्रत्यक्ष रूप से इसके भयंकर परिणाम देखने को मिलते हैं. जूही द्वारा दी गई याचिका में इस बात का भी जिक्र है कि 5G टेक्नोलॉजी के शुरू होने से वनस्पति जीव जंतु और पक्षियों को भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है. बता दी कि जूही चावला पिछले कई सालों से रेडिएशन के प्रति जागरूकता फैलाने का कार्य कर रही है.

इसे भी पढ़ें- ईसा के नाम पर कैसा जुल्म ?

क्या कहना है जूही चावला का

जूही चावला के प्रवक्ता ने मीडिया को संबोधित करते हुए बताया कि भारत में 5G टेक्नोलॉजी को शुरू करने के पहले विस्तृत रूप से इसके हानिकारक प्रभावों की चर्चा की जानी चाहिए थी. प्रवक्ता ने कहा कि निश्चय ही आने वाले समय में इस टेक्नोलॉजी से कई तरह की परेशानियां उत्पन्न हो सकती है. जूही चावला के प्रवक्ता ने कहा है कि यदि रेडिएशन से संबंधित सारे अध्ययन किए गए हैं तो इसे आम लोगों के लिए सार्वजनिक किया जाना चाहिए जिससे हमें यह पता चल सके कि हम आने वाली पीढ़ी को कहीं अंधकार में तो नहीं धकेल रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- IPL 2021:दर्शकों की उपस्थिति में होगा मैचों का आयोजन,  लेकिन पूरी करनी होगी ये शर्त

Latest News

Rajasthan में फिर टल सकता हैं मंत्रिमंडल में फेरबदल, अगस्त तक करना होगा इंतजार!
जयपुर | Rajasthan Cabinet Reshuffle: पंजाब की राजनीति में चल रही उठापटक को सुलझाने के बाद अब कांग्रेस आलाकमानों का पूरा फोकस…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});