nayaindia विशाखापट्टनम में एक बच्चे ने कुत्ते के लिए दी जान.. - Naya India
ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया|

विशाखापट्टनम में एक बच्चे ने कुत्ते के लिए दी जान..

विशाखापट्टनम |  आजकल के बच्चों में सहनशीलता नाम की चीज ही नहीं है। बच्चों को लगता है कि हम जिस भी वस्तु की फरमाइश करें वह हमारे सामने प्रकट हो जाए।और अगर ऐसा संभव ना हो तो बच्चे अपनी जान दे देते है। लेकिन ऐसा संभव नहीं होता है। आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम से ऐसा ही एक मामला सुनने को मिला है। जहां पर एक बच्चे की इच्छा पूरी ना करने पर उसने अपनी जान दे दी। 16 साल के नाबालिक ने अपने घर वालों से कहा कि मुझे एक कुत्ता चाहिए लेकिन उसके घर वालों ने उससे कहा कि थोड़ा रूक जाए लेकिन नहीं। उस बच्चे को यह मंजूर नहीं था। उसे तो ताहिए था कि उसी समय मेरी इच्छा पूरी हो। इस बात पर बच्चे ने आत्महत्या कर ली और बच्चे की मौत हो गई। सूत्रों के मुताबिक यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि कोरोना काल में बंद होने की वजह से परिवार में आर्थिक तंगी चल रही थी। इस कारण घर वालों ने बच्चे को थोड़ रूकने को कहा था।

also read: मां गंगा ने लिया अवतार, लाल चुनरी और देवी-देवताओं के फोटो के साथ मिली देवी मां

30,000 हजार का कुत्ता

सोशल मीडिया एक ऐसी चीज है जो सब कुछ सवार बी देती है तो बिगाड़ने में भी इसी का हाथ होता है। दरसल, विशाखपट्टनम के वेंकटेश्‍वरा मेट्टा इलाके में षणमुख वामसी (16) अपने परिवार के साथ रहा करता था। उसने सोशल मीडिया पर ऑनलाइन एक कुत्ता देखा जिसकी कीमत 30 हजार रूपये बताई जा रही है। षणमुख को वह कुत्ता बेहद पसंद आया  और उसने अपने घर वालों से जिद की कि यह कुता दिला दो। षणमुख के माता-पिता तैयार नहीं हुए।

सीलिंग फैन में पंदा लगाकर दी जान

षणमुख की मां ने कहा था कि कुछ समय रूक जाएगा तो वह उसे कुत्ता दिला देगी। लेकिन घर वालों के मना करने पर षणमुख नाराज हो गया। और उसे इतना बुरा लग गया कि उसने क्रोध  में आवेश में आकर आत्महत्या करने सोची। लेकिन घर वालों ने उसके बरताव पर इतना ध्यान नहीं दिया। सोमवार को षणमुख की मां घर का जरूरी सामान लाने के लिए बाजार गई थी। लेकिन उन्हें नहीं पता था कि जब वह घर आएगी तो षणमुख इस दुनिया से जा चुका होगा। और जब षणमुख की मां सामान लेकर लौटी तो देखा कि उनका बेटा सीलिंग फैन में फांसी का फंदा लगाकर लटका हुआ है। मां ने जब बेटे को इस हालात में देखा तो मां देख ना पाई और बेहोश हो गई। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने षणमुख वामसी को तत्काल अस्पताल पहुंचाया, जहां जांच के दौरान डॉक्‍टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। एमआर पेट्टा थाने की पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज किया है और आगे जांच की जा रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × 3 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
श्रीनगर में ‘जश्न-ए-कश्मीर उत्सव का समापन
श्रीनगर में ‘जश्न-ए-कश्मीर उत्सव का समापन