Corona Vaccination in UP: अब कोरोना वैक्सीनेशन के लिए ‘आधार’ की बाध्यता खत्म, इन दस्तावेज से भी लगेगा टीका - Naya India
देश | उत्तर प्रदेश | ताजा पोस्ट| नया इंडिया|

Corona Vaccination in UP: अब कोरोना वैक्सीनेशन के लिए ‘आधार’ की बाध्यता खत्म, इन दस्तावेज से भी लगेगा टीका

लखनऊ। Corona Vaccination in UP: कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने अपना विवादित फैसला वापस ले लिया है. अब 18 से 44 साल के लोगों के वैक्सीनेशन ( Corona Vaccination ) के लिए आधार ( Aadhaar ) और स्थाई निवास प्रमाण पत्र की बाध्यता नहीं होगी. अब यूपी में निवास करने का कोई भी डॉक्यूमेंट देने पर टीकाकरण किया जाएगा. यूपी में अब स्थायी और अस्थायी रूप से रहने वाले लोगों का टीकाकरण होगा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ( CM Yogi Adityanath ) ने कोरोना टीकाकरण ( COVID-19 Vaccination) अभियान में तेजी लाने के लिए ये महत्पूर्ण फैसला लिया है. अब कोई भी व्यक्ति निवास का प्रमाणपत्र के रूप में किराया/लीज अनुबंध, बिजली का बिल, बैंक पासबुक और नियोक्ता द्वारा निर्गत प्रमाण पत्र के आधार पर टीका लगवा सकता है. इस संबंध में सरकार की ओर से सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दे दिए गए हैं.

यह भी पढ़ेंः- UK Strain in Rajasthan: राजस्थान में हड़कंप! मिला यूके का स्ट्रेन, चिकित्सा मंत्री ने की पुष्टि

इस आदेश में कहा गया है कि उत्तर प्रदेश में रह रहे प्रत्येक परिवार के सदस्य प्रमाणपत्र के रूप में किराया, लीज अनुबंध/बिजली का बिल, बैंक पासबुक और नियोक्ता द्वारा निर्गत प्रमाण पत्र के आधार पर टीका लगवा सकता है.

यह भी पढ़ेंः- Corona Update: भारत का एक ऐसा राज्य जो कोरोना मैनेजमेंट के लिए बना मिसाल, वैक्सीन की बर्बादी छोड़िए , 1 लाख रेमडेसिविर भी लौटाई

गौरतलब है कि इससे पहले सरकार ने केवल यूपी वालों को वैक्सीनेशन ( Vaccination ) लगाने का आदेश दिया था. नेशनल हेल्थ मिशन के डायरेक्टर की तरफ से जारी चिट्ठी में कहा गया था कि बड़ी संख्या में दूसरे राज्यों के 18 से 44 साल के लोगों ने वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है, इसके चलते यूपी के लोगों को वैक्सीन नहीं लग पा रही है. लेकिन इस आदेष के बाद यूपी में अब स्थायी और अस्थायी रूप से रहने वाले लोगों का टीकाकरण होगा.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
पुलिस और सरकार से अदालत पूछे सवाल
पुलिस और सरकार से अदालत पूछे सवाल