nayaindia दिल्ली हिंसा में आप,कांग्रेस का हाथ: अरुण सिंह - Naya India
kishori-yojna
ताजा पोस्ट | देश | दिल्ली| नया इंडिया|

दिल्ली हिंसा में आप,कांग्रेस का हाथ: अरुण सिंह

मिर्जापुर। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) महासचिव और सांसद अरुण सिह ने संसद में जारी गतिरोध के लिये विपक्ष को जिम्मेदार ठहराते हुये आज कहा कि चार पांच दिनों में देश को पता चल जायेगा कि दिल्ली हिंसा में कांग्रेस, वामपंथी और आम आदमी पार्टी (आप) का हाथ था।

राज्यसभा सदस्य बनने के बाद अपने गृह जिले मिर्जापुर में पत्रकारों से बातचीत में सिंह ने कहा कि दिल्ली की घटना पूरी तरह से सुनियोजित था। जांच रिपोर्ट आने वाली है, जिसके बाद लोगों को कांग्रेस,आप और वामपंथियों की करतूतों का पता चल जायेगा।

यस बैंक में व्याप्त संकट को कांग्रेस नीति संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन का पाप बताते हुये उन्होने कहा कि सरकार ने सभी उपभोक्ताओं को बेफिक्र रहने को कहा है। समस्या का हल निकालने के लिए केन्द्र सरकार कटिबद्ध है। यूपीए सरकार के समय के पाप को मोदी सरकार धो रही है।  उन्होंने कहा कि विपक्ष द्वारा संसद में किया गया आचरण भारतीय संसदीय इतिहास की सबसे शर्मसार करने वाली घटनाओं में से एक है।

इसे भी पढ़ें :- घडि़याली आंसू बहाकर लूट रही है मोदी सरकार: कांग्रेस

यह अशोभनीय और निंदनीय है। विपक्ष संसद में जनता के महत्व के अन्य कार्यों पर चर्चा रोक कर हंगामा करना संसद का उपहास है जबकि सरकार ने चर्चा के लिए तारीख निश्चित कर दी थी।  अब 11 मार्च से चर्चा होगी और कांग्रेस सहित लेफ्ट आप पार्टी की संलिप्तता की पोल खुल जायेगी। भाजपा महासचिव ने कहा कि दिल्ली की घटना सुनियोजित थी और इसमें कांग्रेस, लेफ्ट और आप पार्टी का हाथ था।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दौरे के समय हिंसा की घटना से पूरा देश शर्मसार हुआ है। दंगों की तैयारियां पहले से की गयी थी। भाजपा द्वारा आयोजित सम्मान समारोह को संबोधित करते हुये सिंह ने मोदी सरकार के बजट की खूबियां गिनायी और उसे आम जनता के बीच ले जाने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि बजट को गांव गरीब किसानों के साथ युवा और अनुसूचित जाति के लोगों को समर्पित बताया।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen + 15 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
मोदी ने विपक्ष से सार्थक चर्चा की अपील की
मोदी ने विपक्ष से सार्थक चर्चा की अपील की