Agricultural bill farmers warned किसानों ने दी चेतावनी
ताजा पोस्ट | देश | पंजाब| नया इंडिया| Agricultural bill farmers warned किसानों ने दी चेतावनी

किसानों ने दी चेतावनी, छह सितंबर तक का समय दिया

farmer protest in rohtak

Agricultural bill farmers warned चंडीगढ़। हरियाणा के करनाल में किसानों पर हुए लाठीचार्ज के खिलाफ किसानों ने सोमवार को घरौंडा अनाज मंडी में बड़ी पंचायत की। किसानों की इस पंचायत में राज्य सरकार से तीन मांग की गई है और उसे पूरा करने के लिए छह सितंबर तक का समय दिया गया है। किसानों ने कहा है कि पुलिस की लाठी से घायल होकर दम तोड़ने वाले किसानों को 25 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाए और उसके परिवार के एक सदस्य को नौकरी मिले। इसके अलावा गंभीर रूप से घायलों को दो-दो लाख रुपए देने की मांग की गई है। इसके अलावा पुलिस पर लाठी चलाने का आदेश देने वाले एसडीएम और पुलिसकर्मियों पर सख्त कार्रवाई की भी मांग की गई।

Read also किसान आंदोलन: खट्टर और कैप्टेन आमने-सामने

सोमवार को घरौंडा में चार प्रदेशों के किसान नेताओं ने तीन घंटे तक महापंचायत की और सरकार को छह सितंबर तक का समय दिया है। अगर समय रहते सरकार मांगों को पूरा नहीं करती तो सात सितंबर को करनाल की अनाज मंडी में महापंचायत कर किसान लघु सचिवालय का घेराव करेंगे। किसानों ने कहा है कि पांच सितंबर को मुजफ्फरनगर में महापंचायत होनी है और उसके एक दिन बाद तक का समय राज्य सरकार के पास होगा।

घरौंडा की महापंचायत में भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत नहीं पहुंचे थे। इस बारे में पूछे जाने पर गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा- ये प्रदेश स्तरीय पंचायत थी। यहां पर चर्चा करके फैसले को संयुक्त मोर्चा के पास भेजना है। संयुक्त मोर्चा के दो सदस्य आए हुए थे। उन्होंने कहा कि टिकैत पांच सितंबर को यूपी में होने वाली रैली को लेकर भी व्यस्त हैं।

चढूनी ने यह भी कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा जो भी आदेश करेगा, उसका पालन किया जाएगा। आगे से प्रदेश का कोई भी किसान संगठन आंदोलन को अलग-अलग नहीं चलाएगा। महापंचायत में विधायक सोमबीर सांगवान ने कहा कि बसताड़ा में लाठीचार्ज की घटना किसानों को निशाना बनाने की साजिश थी। उन्होंने उम्मीद जताई कि यूपी की महापंचायत में पूरे हरियाणा से भारी संख्या में लोग पहुंचेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
भारत में बढ़ती भूख
भारत में बढ़ती भूख