no record death farmers पता नहीं कितने किसान मरें!- सरकार
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| no record death farmers पता नहीं कितने किसान मरें!- सरकार

पता नहीं कितने किसान मरें: सरकार

no die in farmer protest

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने कहा है कि विवादित कृषि कानूनों के खिलाफ एक साल से चल रहे किसान आंदोलन के दौरान कितने किसानों की मौत हुई है, इसकी जानकारी उसके पास नहीं है। संसद के शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन बुधवार को सरकार ने यह जानकारी दी। सरकार ने यह भी कहा कि उसके पास मौतों का कोई रिकार्ड नहीं है इसलिए मुआवजे का सवाल ही नहीं उठता है। इसे लेकर विपक्ष ने केंद्र सरकार पर हमला किया और उसे असंवेदनशील बताया। किसान नेता राकेश टिकैत ने भी इसे लेकर सरकार पर निशाना साधा।

कृषि कानूनों की वापसी को लेकर एक साल से चल रहे आंदोलन में हुई किसानों की मौत और मुआवजे के बारे में सरकार ने बुधवार को संसद में लिखित जवाब दिया। सरकार से सवाल पूछा गया था कि उसके पास ऐसा कोई आंकड़ा है, जिसमें प्रभावित परिवारों का जिक्र हो या फिर उनकी मदद के लिए कोई प्रस्ताव हो। इस पर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि कृषि मंत्रालय के पास मौतों का कोई रिकॉर्ड नहीं है। ऐसे में मुआवजे का सवाल नहीं उठता है।

Read also जीएसटी संग्रह 1.31 लाख करोड़ से ज्यादा

केंद्र सरकार के इस जवाब पर कांग्रेस ने सवाल उठाए हैं। राज्यसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा- अगर सरकार के पास सात सौ लोगों का रिकॉर्ड नहीं है तो उन्होंने महामारी के दौरान लाखों लोगों का डेटा कैसे जुटाया था। पिछले दो साल में कोरोना के कारण 50 लाख से ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवाई, लेकिन सरकार का कहना है कि सिर्फ चार लाख लोगों की मौत वायरस के कारण हुई।

Read also ममता के निशाने पर राहुल

मल्लिकार्जुन खड़गे ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यह किसानों का अपमान है। उन्होंने कहा- तीन कृषि कानूनों के विरोध में सात सौ से अधिक किसानों की जान चली गई। केंद्र कैसे कह सकता है कि उनके पास इसका कोई रिकॉर्ड नहीं है? गौरतलब है कि कृषि कानून वापसी बिल सोमवार को दोनों सदनों में पास हो गया था और बुधवार को राष्ट्रपति ने भी इस पर दस्तखत कर दिए। लेकिन किसान अब भी आंदोलन पर बैठे हैं। वे एमएसपी की गारंटी का कानून बनाने और आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों को मुआवजा देने की मांग कर रहे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
नाराज चुनाव आयोग ने मुकदमा कराया
नाराज चुनाव आयोग ने मुकदमा कराया