अखिलेश यादव ने सादगी से मनाया 47वां जन्मदिन

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपना 47 वां जन्मदिन सादगी से मनाया। वैश्विक महामारी कोविड-19 के चलते यादव के जन्मदिन पर कोई समारोह आयोजित नहीं किया गया है।

पार्टी नेताओं तथा कार्यकर्ताओं ने राज्य की राजधानी लखनऊ तथा अन्य शहरों में अपने नेता के जन्मदिन के अवसर कई होर्डिंग्स लगाए गए हैं और उन्हें बधाईया दी है। कुछ पदाधिकारियों ने अस्‍पतालों में फल बांटकर, अनाथालयों में भोजन कराकर और सेनेटाइजर बांटकर अखिलेश यादव के जन्‍मदिन पर उन्‍हें शुभकामनाएं दीं।

पूर्व सांसद और सपा अध्यक्ष अखिलेश की पत्नी डिंपल यादव ने अपने पति को उनके जन्मदिन पर शुभकामना देते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं से इस अवसर पर जरूरतमंदों और गरीबों की मदद करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि वे इस संकट काल में इस मौके पर सार्वजनिक आयोजन से बचें और व्‍यक्तिगत स्‍तर पर किसी जरूरतमंद की मदद करें।

डिंपल यादव ने ट्वीट कर कहा “ सपा के लोकप्रिय राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव जी के जन्मदिन पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ! उनके अनुरोध पर उनके चाहनेवाले सभी समर्थकों एवं कार्यकर्ताओं से ये आग्रह है कि वो इस संकटकाल में किसी आयोजन की जगह व्यक्तिगत स्तर पर किसी ज़रूरतमंद की मदद करेंI”सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने यहां कहा कि पार्टी कार्यकर्ता जरूरतमंदों को भोजन, फल ​​और दवाएं वितरित किये गये।

उन्होंने कहा “पार्टी कार्यालय में कोई उत्सव नहीं होगा लेकिन हम अपने तरीके से यादव का जन्मदिन मनायेंगे। पार्टी के कुछ जिला इकाइयों ने एक इस अवसर पर ‘हवन’ आयोजित करने और अपने नेता की भलाई और लंबे जीवन के लिए प्रार्थना करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि पिछले एक महीने से यादव जिलों में पार्टी नेताओं के साथ वीडियो कॉल करके सक्रिय हैं। वह पार्टी संगठन में सुधार भी कर रहे थे और 2022 के विधानसभा चुनावों के लिए तैयारी में जुटे है।

गौंरतलब है कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का आज 47वां जन्मदिन है। समाजवादी पार्टी के संस्थापक और संरक्षक मुलायम सिंह यादव के बेटे अखिलेश यादव का जन्म एक जुलाई 1973 को सैफई में हुआ था। 1999 में उनका विवाह डिंपल यादव के साथ हुआ। वह साल 2000 में पहली बार कन्‍नौज से चुनकर लोकसभा में पहुंचे थे। 15 मार्च 2012 के 38 साल की उम्र में उत्‍तर प्रदेश के सबसे कम उम्र के मुख्‍यमंत्री बने। 19 मार्च 2017 तक वह इस पद पर रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares