nayaindia सभी राज्यों काे करना होगा लागू नागरिकता संशोधन कानून : शिवराज - Naya India
kishori-yojna
ताजा पोस्ट| नया इंडिया|

सभी राज्यों काे करना होगा लागू नागरिकता संशोधन कानून : शिवराज

जयपुर। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह ने कहा है कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) सभी राज्यों को लागू करना होगा। शिवराज सिंह ने आज यहां पत्रकारों से कहा कि यह कानून संसद ने बनाया है। दोनों सदनों ने इसे पारित किया है।

इसे लागू करने से राज्य मना नहीं कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि संवैधानिक पद पर बैठे राज्यों के मुख्यमंत्री इसे राज्यों में लागू करने से इन्कार नहीं कर सकते। उन्हें लागू करना ही होगा, दूसरा कोई तरीका नहीं है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के पास दूसरे रास्ते भी हैं, हालांकि उन्हें उम्मीद कि ऐसी नौबत नहीं आयेगी।

इसे भी पढ़ें :- मुजफ्फरनगर में कथित प्रदर्शनकारियों की 67 दुकानें सील

सिंह ने कहा कि फिलहाल वर्ष 2014 तक के शरणार्थियों को इस कानून के तहत नागरिकता देने का प्रावधान किया गया है, इसके बाद आने वालों को भी नागरिकता देने के रास्ते खुले हैं। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सीएए और एनआरसी दोनों अलग हैं। सीएए धार्मिक आधार पर प्रताड़ना के शिकार लोगों को नागरिकता देने के लिये लाया गया है, जबकि एनआरसी देश के किसी भी नागरिक पर लागू नहीं होगा। इससे किसी को तकलीफ नहीं होनी चाहिए। यह उन्हीं के लिये है जो देश में अवैध तरीके से गलत इरादे से आये हैं।

उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वह वोटबैंक की राजनीति के चलते इस बारे में भ्रम फैला रही है। उन्हें लगता है कि ऐसी गतिविधियों से उन्हें फायदा होगा, लेकिल अब भ्र्रम दूर हो रहा है। सिंह ने कहा कि सोनिया गांधी ने संसद में इस विधेयक पर चर्चा में भाग नहीं लिया। बाद में एक वीडियो जारी किया। जब इस पर बहस होती रही, इस पर सवाल होते रहे लेकिन श्रीमती सोनिया गांधी ने एक शब्द नहीं बोला। उन्होंने कहा कि श्री राहुल गांधी तो देश में कम देश के बाहर अधिक रहते हैं, संसद में चर्चा के दौरान वह भी मौजूद थे, लेकिन उन्होंने भी इस मुद्दे पर एक शब्द नहीं कहा। अब वह इस पर हायतौबा मचा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें :- नागालैंड में सीएए के विरोध में शांतिपूर्ण प्रदर्शन

सिंह ने कहा कि देश में वर्षों से पड़ोसी देशों में धार्मिक आधार पर सताये गये लोग शरणार्थी के रूप में रह रहे हैं, लेकिन श्रीमती गांधी एक बार भी उनके दुखदर्द जानने नहीं गईं। जबकि उनके बारे में मीडिया में भी काफी कुछ छपता रहा है। उन्होंने कहा कि वर्षों से देश में रह रहे धार्मिक भेदभाव के शिकार इन शरणार्थियों के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भगवान के रूप में सामने आये हैं। इससे उन पर मंडरा रहे अनिश्चितता के बादल छंट गये हैं। यह देश उनका भी है, ऐसा प्रावधान इस कानून में है।

श्री सिंह ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की परोक्ष रूप से आलोचना करते हुए कहा कि संवैधानिक पद पर बैठा व्यक्ति शांतिमार्च निकाल रहा है। दुकानें बंद करवाकर, रास्ते रुकवाकर इंटरनेट पर प्रतिबंध लगाकर और दहशत का माहौल बनाकर वह क्या करना चाह रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसी क्रम में मध्यप्रदेश में भी कांग्रेस के मुख्यमंत्री 25 दिसम्बर को रैली करने जा रहे हैं। सिंह ने कहा कि कांग्रेस राष्ट्रीय नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर देश में जो भ्रम फैला रही है, उसके जवाब में भाजपा के नेता और कार्यकर्ता देश के हर जिले में, हर कस्बे और पंचायत क्षेत्रों में जनजागरण अभियान चलायेंगे। हम इस मुद्दे पर जनता के बीच जायेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − 9 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
महाराष्ट्र में उपचुनाव के लिए मतदान की तारीख में बदलाव
महाराष्ट्र में उपचुनाव के लिए मतदान की तारीख में बदलाव