Gyanvapi masjid asi survey ज्ञानवापी मस्जिद के एएसआई सर्वे पर रोक
ताजा पोस्ट | समाचार मुख्य| नया इंडिया| Gyanvapi masjid asi survey ज्ञानवापी मस्जिद के एएसआई सर्वे पर रोक

ज्ञानवापी मस्जिद के एएसआई सर्वे पर रोक

प्रयागराज। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर में बनी ज्ञानवापी मस्जिद के पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग यानी एएसआई द्वारा सर्वे करने पर रोक लगा दी है। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने इसके साथ ही वाराणसी की निचली अदालत में चल रही सुनवाई पर भी रोक लगा दी है। जस्टिस प्रकाश पाडिया की सिंगल बेंच ने यह फैसला सुनाया। हाई कोर्ट दो हफ्ते बाद इस मामले में आगे की सुनवाई करेगा। (Gyanvapi masjid asi survey)

याचिकाकर्ता के वकील विष्णु शंकर जैन ने कहा है कि दो हफ्ते बाद इलाहाबाद हाई कोर्ट में इस मामले की सुनवाई होगी, उसी समय हम हाई कोर्ट के सामने केस से जुड़ी जानकारी रखेंगे। हाई कोर्ट ने इस मामले में सभी पक्षों से दो हफ्ते में नए सिरे से जवाब दाखिल करने को कहा है। इस मामले की अगली सुनवाई आठ अक्टूबर को होगी, तब तक निचली अदालत के फैसले पर रोक लगी रहेगी।

KRISHNA JANM BHUMI ISSUE

Read also आयकर रिटर्न की तारीख बढ़ी

गौरतलब है कि अप्रैल में वाराणसी की निचली अदालत ने काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर में स्थित ज्ञानवापी के पुरातात्विक सर्वेक्षण के दिए आदेश दिए थे। वाराणसी के सीनियर डिवीजन फास्ट ट्रैक कोर्ट के जज आशुतोष तिवारी ने सर्वेक्षण कराने का फैसला दिया था। इस फैसले में केंद्र के पुरातत्व विभाग के पांच विशेषज्ञों की टीम बनाकर पूरे परिसर का अध्ययन कराने के निर्देश दिए गए थे।

काशी यानी वाराणसी के स्थानीय वकील विजय शंकर रस्तोगी ने दिसंबर 1991 में सिविल जज की अदालत में स्वयंभू ज्योतिर्लिंग भगवान विश्वेश्वर की ओर से एक आवेदन दायर किया था, जिसमें भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के विशेषज्ञों से संपूर्ण ज्ञानवापी परिसर का सर्वेक्षण करने का अनुरोध किया गया था। उन्होंने स्वयंभू ज्योतिर्लिंग भगवान विश्वेश्वर के ‘वाद मित्र’ के रूप में याचिका दायर की थी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
चुनाव खत्म होते ही बंगाल में लॉकडाउन
चुनाव खत्म होते ही बंगाल में लॉकडाउन