भारत के जासूसी उपग्रह लांचिंग की उलटी गिनती सुगमतापूर्वक जारी - Naya India
ताजा पोस्ट| नया इंडिया|

भारत के जासूसी उपग्रह लांचिंग की उलटी गिनती सुगमतापूर्वक जारी

चेन्नई भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा रॉकेट प्रक्षेपण केंद्र से देश के अपने उन्नत जासूसी उपग्रह आरआईएसएटी-2बीआरआई1 और नौ विदेशी उपग्रहों के बुधवार शाम के प्रक्षेपण के लिए तैयार है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अनुसार, 10 उपग्रहों को ले जाने के लिए तैयार पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (पीएसएलवी) रॉकेट की उलटी गिनती सुचारू रूप से आगे बढ़ रही है।

मंगलवार शाम 4.40 बजे उलटी गिनती शुरू हुई थी। भारत के पीएसएलवी रॉकेट को पहले लॉन्च पैड से बुधवार अपराह्न् 3.25 बजे आरआईएसएटी-2बीआरआई को लेकर प्रक्षेपित होने की उम्मीद है। इसरो ने इस रडार इमेजिंग पृथ्वी निगरानी उपग्रह का वजन लगभग 628 किलोग्राम बताया है। भारतीय उपग्रह को 576 किलोमीटर की एक कक्षा में रखा जाएगा। इसकी उम्र पांच साल होगी।

इसे भी पढ़ें : उपनगरीय रेलवे स्टेशनों पर 2000 शौचालय बनेंगे : गोयल

भारतीय उपग्रह अपने साथ चार देशों के नौ विदेशी उपग्रहों -अमेरिका (मल्टी-मिशन लेमूर -4 सैटेलाइट्स, टेक्नोलॉजी डिमॉन्स्ट्रेशन टायवाक-0129, अर्थ इमेजिंग 1हॉपसैट), इजरायल (रिमोट सेंसिंग डुचिफैट -3), इटली (सर्च एंड रेस्क्यू टायवाक-0092) व जापान (क्यूपीएस-एसएआर-रडार इमेजिंग अर्थ ऑब्जरर्वेशन सैटेलाइट) को भी लेकर जाएगा। इन विदेशी उपग्रहों को न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड (एनएसआईएल) के साथ एक वाणिज्यिक व्यवस्था के तहत लॉन्च किया जा रहा है। अब तक, इसरो ने 310 विदेशी उपग्रहों को कक्षा में स्थापित किया है और 11 दिसंबर का मिशन सफल होने पर यह संख्या 319 हो जाएगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
देवभूमि उत्तराखंड में चुनावों से पहले कोरोना का घमासान, लगातार बढ़ रहे संक्रमित, आज सामने आए 3 हजार पार
देवभूमि उत्तराखंड में चुनावों से पहले कोरोना का घमासान, लगातार बढ़ रहे संक्रमित, आज सामने आए 3 हजार पार