nayaindia ashish mishra lakhimpur kheri एसआईटी के सामने पेश हुआ आशीष मिश्र
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| ashish mishra lakhimpur kheri एसआईटी के सामने पेश हुआ आशीष मिश्र

एसआईटी के सामने पेश हुआ आशीष मिश्र

lakhimpur kheri case Bail

लखनऊ। लखीमपुर खीरी में किसानों को गाड़ी से कुचल कर मार डालने का आरोपी आशीष मिश्र आखिरकार शनिवार को क्राइम ब्रांच के अधिकारियों के सामने पेश हुआ। इससे पहले आशीष को शुक्रवार को बुलाया गया था लेकिन वह पुलिस के सामने हाजिर नहीं हुआ, जिसे लेकर सुप्रीम कोर्ट ने पुलिस को कड़ी फटकार लगाई थी। सुप्रीम कोर्ट की फटकार के एक दिन बाद शनिवार को आशीष मिश्र पुलिस के सामने पेश हुआ। पुलिस ने आठ घंटे से ज्यादा समय तक पूछताछ की। अगर पुलिस पूछताछ से संतुष्ट नहीं होती है तो उसे गिरफ्तार किया जा सकता है। ashish mishra lakhimpur kheri

Read also यूपी के छह पुलिसकर्मियों पर एक-एक लाख इनाम

अजय मिश्र को क्राइम ब्रांच की ऑफिस में 11 बजे बुलाया गया था, लेकिन वह साढ़े 10 बजे के तुरंत बाद पहुंच गया। उसने रूमाल से अपना मुंह छिपा रखा था। पुलिस उसे क्राइम ब्रांच के पिछले दरवाजे से भीतर ले गई। करीब आठ घंटे तक उससे पूछताछ हुई और इस दौरान मजिस्ट्रेट के सामने उसका बयान कलमबंद किया गया। आशीष मिश्रा के साथ उसके वकील और उसके पिता व केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी के प्रतिनिधि भी पूछताछ के दौरान मौजूद थे। क्राइम ब्रांच के दफ्तर में एसडीएम सदर भी मौजूद थे।

Read also कांग्रेस कार्य समिति की बैठक 16 अक्टूबर को

बाद में आशीष मिश्र को मेडिकल जांच और अदालत में पेशी के लिए ले जाया जाएगा। मीडिया को रोकने और कानून व्यवस्था की समस्या को देखते हुए सुरक्षा बढ़ा दी गई है। बताया गया है कि आशीष से छह लोगों की टीम ने पूछताछ की। पूछताछ में डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल और लखीमपुर के एसडीएम भी शामिल हुए। बताया जा रहा है कि आशीष ने अपने पक्ष में कई वीडियो पेश किए। उसने 10 लोगों के बयान का हलफनामा भी पेश किया, जिन्होंने कहा है कि वे किसानों को कुचलने वाली गाड़ियों के काफिले के साथ नहीं थे, दंगल मैदान में थे।

Lakhimpur Kheri Violence:

Read also सौ अरब डॉलर के क्लब में शामिल हुए अंबानी

गौरतलब है कि तीन अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र और राज्य के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का विरोध कर रहे किसानों को तीन गाड़ियों से कुचल दिया गया था। इसमें एक गाड़ी अजय मिश्र के नाम से रजिस्टर्ड थी। इस घटना में चार किसानों सहित कुल आठ लोगों की मौत हो गई थी। किसानों ने अजय मिश्र के बेटे आशीष मिश्र के खिलाफ हत्या और हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज कराया था।

Leave a comment

Your email address will not be published.

17 − 7 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
PFI का प्रदर्शन: ‘हिंदुस्तान’ में लगे ‘पाकिस्तान’ जिंदा बाद के नारे, भाजपा बोली- नहीं बक्शा जाएगा
PFI का प्रदर्शन: ‘हिंदुस्तान’ में लगे ‘पाकिस्तान’ जिंदा बाद के नारे, भाजपा बोली- नहीं बक्शा जाएगा