nayaindia Ashok gehlot target sachin piliot गहलोत ने पायलट को दी नसीहत
kishori-yojna
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया| Ashok gehlot target sachin piliot गहलोत ने पायलट को दी नसीहत

गहलोत ने पायलट को दी नसीहत

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट को चुप रहने की नसीहत दी है। उन्होंने कहा है कि पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल की सलाह मानते हुए अनुशासन में रहना चाहिए। असल में पायलट ने गहलोत को लेकर टिप्पणी की थी और उनकी तुलना गुलाम नबी आजाद से कर दी थी। उन्होंने यह भी कहा था कि राजस्थान में अनिर्णय की स्थिति है, जिसे आलाकमान जल्दी ही समाप्त करेगा।

उनकी टिप्पणी के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने तल्ख तेवर दिखाते हुए उन्हें अनुशासन में रहने की सीख दी। उन्होंने कहा कि केसी वेणुगोपाल ने बेवजह के बयानों से दूर रहने को कहा था। पायलट की टिप्पणी पर मुख्यमंत्री गहलोत ने बुधवार को अलवर में कहा- उन्हें ऐसी टिप्पणी नहीं करनी चाहिए। केसी वेणुगोपाल ने पार्टी में सभी से इस तरह की कोई भी टिप्पणी नहीं करने को कहा है। हम चाहते हैं कि सभी अनुशासन का पालन करें।

इससे पहले पायलट ने कहा था कि राजस्थान में अनिर्णय के माहौल को समाप्त करने का वक्त आ गया है। पार्टी जल्दी इस मसले पर कदम उठाएगी। उन्होंने बुधवार जयपुर में अपने निवास पर संवाददाताओं से कहा कि बीते 25 सितंबर को कांग्रेस विधायकों की बैठक बुलाई गई थी। इस मामले को पार्टी पर्यवेक्षकों ने गंभीरता से लिया। इसे अनुशासनहीनता का मामला माना गया। उन्होंने कहा- मल्लिकार्जुन खड़गे जी ने अभी पदभार संभाला है, ऐसा नहीं सकता कि अनुशासनहीनता पर निर्णय नहीं लिया जाए।

पायलट ने अशोक गहलोत पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से उनकी तारीफ किए जाने पर भी सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि संसद में पीएम मोदी ने गुलाम नबी आजाद की तारीफ की थी और उसके बाद क्या हुआ था, यह सबको पता है। इसके आगे पायलट ने कहा कि जिस तरह से पीएम मोदी ने मानगढ़ में अशोक गहलोत की तारीफ की है, उससे अंदेशा हो रहा है। इसके बाद जुबानी जंग शुरू हो गई। गहलोत के ओएसडी लोकेश शर्मा ने इशारों में सचिन पायलट पर निशाना साधते हुए ट्विट किया- ठहरे हुए पानी में कंकर न मारे कोई, वरना हलचल सी मच जाएगी। गहलोत सरकार के मंत्री महेश जोशी ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा- बुत हमको कहे काफिर, अल्लाह की मर्जी है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten − seven =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
भ्रष्टाचार लोकतंत्र और सामाजिक न्याय का शत्रु: मुर्मू
भ्रष्टाचार लोकतंत्र और सामाजिक न्याय का शत्रु: मुर्मू