nayaindia Aurangabad and Osmanabad renamed औरंगाबाद और उस्मानाबाद का
ताजा पोस्ट | देश | महाराष्ट्र| नया इंडिया| Aurangabad and Osmanabad renamed औरंगाबाद और उस्मानाबाद का

औरंगाबाद और उस्मानाबाद का नाम बदला

Maharashtra politics Uddhav health

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने विधानसभा में विश्वास मत से पहले सरकार बचाने का आखिरी दांव चला और औरंगाबाद व उस्मानाबाद के नाम बदल दिए। बुधवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में औरंगाबाद शहर का नाम संभाजीनगर और उस्मानाबाद शहर का नाम धाराशिव रखने को मंज़ूरी दे दी गई है। इसके साथ ही कैबिनेट ने नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे का नाम बदलकर डीबी पाटिल अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे रखने की भी मंजूरी दे दी।

गौरतलब है कि औरंगाबाद का नाम मुगल बादशाह औरंगजेब के नाम पर है। यह नाम उस वक्त रखा गया था, जब वह इस क्षेत्र का गवर्नर हुआ करता था। शिव सेना इस शहर का नाम बदलने की मांग काफी अरसे से करती आ रही थी। अब औरंगाबाद का नाम बदल कर छत्रपति संभाजी के नाम पर संभाजीनगर किया गया है, जो छत्रपति शिवाजी महाराज के सबसे बड़े बेटे थे। बहरहाल, बुधवार की कैबिनेट बैठक में उद्धव ठाकरे ने अपने सहयोगियों का आभार जताया और कहा कि उनको अपने लोगों ने धोखा किया लेकिन बाकी सहयोगियों का साथ मिला, जिसके लिए वे उनके आभारी हैं।

इस बीच यह भी खबर है कि कांग्रेस ने इन दोनों शहरों के नाम बदले जाने विरोध किया। कांग्रेस की मंत्री वर्षा गायकवाड़ बैठक से बाहर आ गई थीं। हालांकि बाद में उन्होंने कहा कि वे कुछ और फाइल्स लेने के लिए निकली थी। समाजवादी पार्टी ने भी दोनों शहरों के नाम बदले जाने का विरोध किया है। बहरहाल, कैबिनेट की इस बैठक में राज्य के लिए हल्दी अनुसंधान और प्रसंस्करण नीति लागू करने का फैसला भी किया गया और और हिंगोली जिले में बालासाहेब ठाकरे हरिद्रा अनुसंधान व प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना की जाएगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.

20 + twenty =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
बांग्लादेश को बचाए भारत
बांग्लादेश को बचाए भारत