बघेल ने छद्म राष्ट्रवाद पर देश का बेड़ा गर्क करने का लगाया आरोप

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छद्म राष्ट्रवाद पर देश का बेड़ा गर्क करने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि कारपोरेट हाउस एवं उनके द्वारा संचालित मीडिया समूह निरेटिव तय कर रहे है,और इसे देखने एवं पढ़ने वाले भी वहीं सोच पा रहे है।

बघेल ने आज यहां स्थानीय हिन्दी दैनिक नव प्रदेश की आठवीं वर्षगांठ पर आयोजित समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि बगैर मुद्दों की बहस चलाने वाले मीडिया संस्थान क्या पुलवामा में शहीद 40 परिवारों को न्याय दिलवाने के लिए कभी कार्यक्रम चलाते है,

क्या यह कभी जम्मू कश्मीर पुलिस के डीएसपी देवेन्दर सिंह के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज हुआ कि नही और नही हुआ तो क्यों,इसे पूछते है।यह कैसा राष्ट्रवाद है। उन्होने कहा कि जिन चीजों की आवश्यकता नही है उस पर तो हम सोच रहे है लेकिन जिनकी जरूरत है उस पर सोचना बन्द कर दिया है। उन्होने प्रधानमंत्री एवं दूसरे भाजपा नेता 70 वर्ष पहले की बात तो उठाते है, और जब वह राज्य विधानसभा में 14 पहले तक सत्ता में रही भाजपा सरकार के बारे मॆं बाते करते है,वहीं वहीं बात क्यों दोहराई जा रही है।

आप में सुनाने का साहस तो है लेकिन सुनने का नही। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कल संसद में दिए उद्बोधन में पंडित जवाहर लाल नेहरू को प्रधानमंत्री बनने के लिए देश का बंटवारा करवाने के बगैर नाम लिए उल्लेख करने पर उन्हे आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जिन्होने 10 वर्ष तक देश की आजादी के लिए जेल में बिताए,उन पर इस तरह के आरोप वह लगा रहे है जोकि देश को बांटने में लगे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares