nayaindia warning World Health Organization विश्व स्वास्थ्य संगठन की बड़ी चेतावनी
ताजा पोस्ट | विदेश| नया इंडिया| warning World Health Organization विश्व स्वास्थ्य संगठन की बड़ी चेतावनी

विश्व स्वास्थ्य संगठन की बड़ी चेतावनी

warning World Health Organization

जिनेवा। कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन, डब्लुएचओ ने बड़ी चेतावनी जारी की है। डब्लुएचओ के महानिदेशक टेड्रोस एडेनॉम गैब्रिएसस ने कहा है कि कोरोना खत्म मानना बहुत खतरनाक हो सकता है। उन्होंने यह भी कहा है कि ओमिक्रॉन को वायरस का आखिरी वैरिएंट मानन भी बहुत खतरनाक है। टेड्रोस ने कहा है कि अब भी नए वैरिएंट मिल रहे हैं, जिन पर अध्ययन किया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि पिछले हफ्ते पूरी दुनिया में हर 12 सेकेंड में एक व्यक्ति की संक्रमण से मौत हुई है।

टेड्रोस एडेनॉम गैब्रिएसस ने डब्लुएचओ की कार्यकारी बोर्ड की बैठक में हिस्सा लिया और कहा कि ओमिक्रॉन को कोरोना का आखिरी वैरिएंट समझना खतरनाक हो सकता है। उन्होंने आगे कहा कि अगर महामारी से बचने के लिए बड़े पैमाने पर उपाय किए जाते हैं तो 2022 के आखिर तक यह खत्म हो सकती है। टेड्रोस ने कहा- भविष्य में इस तरह के हालात को रोका जा सके, इसलिए मौजूदा महामारी से सबक सीखने और नए समाधान खोजने की जरूरत है। इसके लिए हमें महामारी के खत्म होने का इंतजार नहीं करना चाहिए।

Read also आठ राज्यों में पड़ेगी कड़ाके की ठंड

डब्लुएचओ के प्रमुख ने कहा- पिछले हफ्ते के आंकड़ों पर गौर किया जाए तो हर तीन सेकंड में एक सौ लोग कोरोना से संक्रमित हुए। इस वायरस ने हर 12 सेकंड में एक इंसान की जान ली। गौरतलब है कि 2019 में पहला केस आने के बाद से अब तक कोरोना वायरस दुनिया भर में 56 लाख से ज्यादा लोगों की जान ले चुका है। डब्लुएचओ वायरस का संक्रमण रोकने के लिए गरीब देशों तक जल्दी से जल्दी वैक्सीन पहुंचाने की मांग कर रहा है। इसने सभी देशों से जून 2022 तक अपनी कम से कम 70 फीसदी आबादी का वैक्सीनेशन करने की अपील की है।

गौरतलब है कि डब्लुएचओ के 194 सदस्य देशों में से आधे देशों ने 2021 के आखिर तक अपनी 40 फीसदी आबादी को वैक्सीन लगा दी थी। लेकिन इस समय तक अफ्रीका में 85 फीसदी लोगों को वैक्सीन का एक भी डोज नहीं मिला था। बहरहाल, टेड्रोस ने कहा है- यह मानना ​​खतरनाक होगा कि ओमिक्रॉन कोरोना का आखिरी वैरिएंट होगा या यह महामारी का आखिरी दौर है। इसके उलट दुनिया भर में कोरोना के नए वैरिएंट सामने आने का खतरा है, जो और ज्यादा घातक हो सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.

one × 2 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
एक व्यक्ति एक पद का सिद्धांत भी लागू होगा
एक व्यक्ति एक पद का सिद्धांत भी लागू होगा