nayaindia BJP 156 historic victory भाजपा 156, ऐतिहासिक जीत
kishori-yojna
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| BJP 156 historic victory भाजपा 156, ऐतिहासिक जीत

भाजपा 156, ऐतिहासिक जीत!

अहमदाबाद। भारतीय जनता पार्टी ने गुजरात में ऐतिहासिक जीत दर्ज की है। गुजरात के इतिहास में पहली बार कोई पार्टी डेढ़ सौ से ज्यादा सीट जीतने में कामयाब हुई है। गुरुवार को आए चुनाव नतीजों में भाजपा ने 156 सीट जीत कर नया रिकॉर्ड बनाया है। इससे पहले कांग्रेस ने 1985 में माधव सिंह सोलंकी की अगुआई में 149 विधानसभा सीटें जीती थीं। नरेंद्र मोदी के मुख्यमंत्री बनने के बाद 2002 में हुए पहले चुनाव में भाजपा ने 127 सीटें जीती थीं। इस जीत के साथ भाजपा ने दोनों रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। गुजरात भाजपा के प्रमुख सीआर पाटिल ने बताया कि 12 दिसंबर को दोपहर दो बजे गुजरात के नए मुख्यमंत्री शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह शामिल होंगे।

चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री मोदी राज्य के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल का जिक्र करते हुए कहा था कि नरेंद्र का रिकॉर्ड भूपेंद्र तोड़ेंगे। वहीं हुआ। भूपेंद्र पटेल ने नरेंद्र मोदी और माधव सिंह सोलंकी दोनों का रिकॉर्ड तोड़ दिया। भाजपा को 156 सीटें और 52.50 फीसदी वोट मिले हैं। पिछले चुनाव में भाजपा को कड़ी टक्कर देने वाली कांग्रेस पार्टी को महज 17 सीटें मिल पाई हैं। उसे राज्य की विधानसभा में मुख्य विपक्षी पार्टी का दर्जा भी नहीं मिल पाएगा। कांग्रेस को 27.28 फीसदी वोट मिले हैं।

कांग्रेस ने पिछली बार 42 फीसदी के करीब वोट हासिल किए थे और उसे 77 सीटें मिली थीं। इस बार उसे करीब 15 फीसदी वोट और 60 सीटों का नुकसान हुआ है। आम आदमी पार्टी की वजह से कांग्रेस को इतना बड़ा नुकसान झेलना पड़ा है। अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को 12.92 फीसदी वोट मिले हैं और उनकी पार्टी ने पांच सीटें हासिल की हैं। उनको मिला वोट बुनियादी रूप से कांग्रेस का है। वे भाजपा का वोट नहीं काट पाए, उलटे भाजपा का वोट पिछली बार से चार फीसदी बढ़ गया। पिछली बार भाजपा को 49 फीसदी वोट मिले थे।

बहरहाल, भारतीय जनता पार्टी की सरकार के सारे मंत्री जीत गए हैं और जितने भी हाई प्रोफाइल उम्मीदवार थे वे भी चुनाव जीत गए हैं। हार्दिक पटेल वीरमगाम सीट से चुनाव जीते हैं तो क्रिकेटर रविंद्र जडेजा की पत्नी रूबावा जडेजा भी जीत गई हैं। पुल हादसे की वजह से चर्चा में आई मोरबी सीट भी भाजपा ने जीत ली है। मोरबी में पहले चरण में एक दिसंबर को वोटिंग हुई थी। चुनाव से ठीक 31 दिन पहले 30 अक्टूबर को वहां मच्छू नदी पर बना पुल टूटने से 143 लोगों की जान चली गई थी। पार्टी ने वहां से कांतिलाल अमृतिया को टिकट दिया था, जिन्होंने नदी में कूद कर लोगों की जान बचाई थी।

नतीजों के बाद गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने कहा कि गुजरात विधानसभा चुनाव का जनादेश अब स्पष्ट हो चुका है, यहां की जनता ने मन बना लिया है कि दो दशक से चली आ रही गुजरात की इस विकास यात्रा को अविरत चालू रखना है। बहरहाल, असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एमआईएम ने पहली बार गुजरात विधानसभा चुनाव में हिस्सा लिया था। उसके सभी 13 उम्मीदवार चुनाव हार गए हैं। वडोदरा की वाघोडिया सीट से भाजपा के बागी मधु श्रीवास्तव भी चुनाव हार गए हैं। कुतियाणा में लेडी डॉन संतोकबेन जडेजा के बेटे कांधल जडेजा समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव जीत गए हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

20 − 5 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
बुलबुले हैं, तो फूटेंगे ही!
बुलबुले हैं, तो फूटेंगे ही!