nayaindia Babul Supriyo Quits Politics: भाजपा के बाबुल सुप्रियो ने राजनीति से लिया संन्यास
ताजा पोस्ट | देश | पश्चिम बंगाल| नया इंडिया| Babul Supriyo Quits Politics: भाजपा के बाबुल सुप्रियो ने राजनीति से लिया संन्यास

जा रहा हूं मैं.. अलविदा! कह कर भाजपा के इस दिग्गज नेता ने राजनीति से लिया संन्यास

नई दिल्ली | BJP के दिग्गज नेता बाबुल सुप्रियो ने आज शनिवार को राजनीति से संन्यास (Babul Supriyo Quits Politics) लेने का ऐलान कर दिया है। बाबुल सुप्रियो आसनसोल से भाजपा के सांसद हैं। सुप्रियो ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपने संन्यास का ऐलान किया। उन्होंने यह भी कहा कि वे हमेशा भाजपा के ही रहेंगे। भाजपा ही उनकी पार्टी है।

संसद सदस्य से भी दे दिया इस्तीफा
Babul Supriyo Quits Politics: बाबुल सुप्रियो ने राजनीति से संन्यास के साथ ही सांसद पद से भी इस्तीफा दे दिया है। सुप्रियो ने अपने इस्तीफे का ऐलान करते हुए सोशल मीडिया पर लिखा कि, अगर सामाजिक कार्य करना है तो वह राजनीति के बिना भी हो सकता है और लोगों की सेवा राजनीति के बिना भी की जा सकती है।

मैं एक टीम का खिलाड़ी और हमेशा एक टीम का किया समर्थन
उन्होंने लिखा कि, मैं किसी और पार्टी में नहीं जा रहा हूं। मुझे किसी भी पार्टी की तरफ से फोन नहीं आया। मैं एक टीम का खिलाड़ी हूं, और हमेशा एक टीम का समर्थन किया है। आपको बता दें कि हाल में मोदी कैबिनेट विस्तार में Babul Supriyo को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था। तब भी उन्होंने सोशल मीडिया में अपना दुख जताया था।

ये भी पढ़ें:- Rajasthan : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 5 IAS अफसरों का किया तबादला, अन्य रिक्त पदों पर भी की गई भर्ती..

Babul Supriyo का जताया आभार, कहा- उनके प्यार को कभी नहीं भूलूंगा
बाबुल सुप्रियो ने इस्तीफे (Babul Supriyo Quits Politics) में भाजपा नेताओं का आभार भी जताया है। गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का आभार जताते हुए उन्होंने कहा कि, दोनों ही लोगों ने कई मायनों में मुझे प्रेरित किया है। मैं उनके प्यार को कभी नहीं भूलूंगा। मैं प्रार्थना करता हूं कि वे मुझे गलत नहीं समझेंगे और माफ कर देंगे।

ये भी पढ़ें:- पहले कहा था 24 घंटे में ऑक्सीजन की कमी से गयी 26 जानें, अब पलटे कहा- सवाल ही नहीं उठता…

विधानसभा चुनाव में झेलनी पड़ी थी हार
गौरतलब है कि इस बार पश्चिम बंगाल में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा ने उन्हें टॉलीगंज विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया था, लेकिन Babul Supriyo जीत नहीं पाए थे और कहा था कि, मैं बंगाल में हार के लिए जिम्मेदारी लेता हूं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × 5 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
महाराष्ट्र के ठाणे में बुजुर्ग की हत्या
महाराष्ट्र के ठाणे में बुजुर्ग की हत्या