भाजपा सांसद का भगोड़ा बेटा सरेंडर करने के लिए तैयार - Naya India
देश | उत्तर प्रदेश | ताजा पोस्ट| नया इंडिया|

भाजपा सांसद का भगोड़ा बेटा सरेंडर करने के लिए तैयार

लखनऊ। भाजपा सांसद कौशल किशोर के बेटे आयुष किशोर ने लखनऊ की अदालत में आत्मसमर्पण करने के लिए आवेदन दिया है। कथित तौर पर 3 मार्च को गोली लगने के बाद आयुष फरार हो गया था। मंड़ियांव पुलिस ने अदालत में कहा है कि उसे आयुष के आत्मसमर्पण करने से कोई आपत्ति नहीं है। इस मामले पर अदालत में सुनवाई होनी है, वहीं आयुष के गुरुवार को आत्मसमर्पण करने की उम्मीद है।

बता दें कि आयुष को 2 मार्च की रात को गोली मारी गई थी और सीसीटीपी फुटेज देखने के बाद पुलिस ने उसके बहनोई आदर्श को गिरफ्तार कर लिया था। फिर जब पुलिस ने कहा था कि आयुष पर हमला करने का नाटक रचा गया था तो वह अस्पताल से प्राथमिक उपचार लेने के बाद वह लापता हो गया था। बाद में आयुष ने एक वीडियो मैसेज भेजा और इसमें उसने अपनी पत्नी अंकिता पर हनी-ट्रैप में फंसाने का आरोप लगाया।

आयुष ने कहा है, 2 मार्च की रात मुझ पर हमला करके मुझे मारने की कोशिश की गई थी। मैं पुलिस के सभी सवालों का जवाब देने के लिए तैयार हूं। उसने यह भी कहा कि वह 7 महीने पहले अंकिता से मिला था और उससे प्यार हो गया। उसने अपने माता-पिता की मर्जी के खिलाफ जाकर उससे शादी की। बल्कि उसने अपने पिता को इमोशनली ब्लैकमेल करने के लिए रेलवे ट्रैक पर बैठकर आत्महत्या करने की धमकी भी दी। उसने आगे कहा, अंकिता जैसी लड़कियां अमीर लड़कों को अपने जाल में फंसाती हैं।

इस बीच उसकी पत्नी अंकिता ने पुलिस पर भाजपा सांसद के दबाव में आकर कार्रवाई करने का आरोप लगाया है। साथ ही सच सामने लाने के लिए आयुष और उसके परिवार के सदस्यों का नार्को टेस्ट कराने की मांग की है। अंकिता ने मीडिया से कहा, मुझे राज्य की पुलिस पर भरोसा नहीं है और हम चाहते हैं कि यह मामला सीबीआई को दे दिया जाए ताकि सच सामने आ सके। मेरी शादी से पहले जन्मे बेटे के पिता की पुष्टि करने के लिए मैं उसका डीएनए टेस्ट भी कराना चाहती हूं।

उसने आयुष के उन आरोपों से भी इनकार किया कि जिसमें उस पर आरोप लगाया गया है कि आयुष पर गोली चलाए जाने से पहले अंकिता ने उसे मारने के लिए ड्रग दी थी। इस पर अंकिता ने जांच के लिए भोजन के नमूने देने की इच्छा जताई है। उसने यह भी आरोप लगाया कि पुलिस ने आयुष के खिलाफ उसकी शिकायत दर्ज नहीं की थी और उसे पूरी रात थाने में बैठने के लिए मजबूर किया था।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
सीट बंटवारे में लेट लतीफी, अखिलेश से छिटकते साथी
सीट बंटवारे में लेट लतीफी, अखिलेश से छिटकते साथी