राजस्थान में सीएए लागू नहीं किया गया तो भाजपा आंदोलन करेगी: चौधरी -
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| %%title%% %%page%% %%sep%%

राजस्थान में सीएए लागू नहीं किया गया तो भाजपा आंदोलन करेगी: चौधरी

अजमेर। राजस्थान में अजमेर से भाजपा सांसद भागीरथ चौधरी ने कहा है कि राज्य में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) लागू नहीं करेगी तो भाजपा राज्यव्यापी आंदोलन करेगी।

चौधरी ने आज यहां कांग्रेस राज के एक साल पूरा होने के विरुद्ध वादाखिलाफी के 52 सप्ताह पर चार्जशीट जारी करने के बाद संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए नागरिकता संशोधन विधेयक लाकर कानून बनाया, लेकिन दुर्भाग्य है कि राज्य के मुख्यमंत्री राज्य में कानून लागू नहीं करने की बात कह रहे हैं।

उन्होंने धर्म के नाम पर देश के हुए बंटवारे को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए कहा कि अब जब केंद्र सरकार सही दिशा में काम कर रही है तो कांग्रेस पूरे देश में वातावरण खराब करने का काम कर रही है। चौधरी ने केंद्र सरकार द्वारा धारा 370, 35ए, तीन तलाक कानून व राम मंदिर पर केंद्र के फैसले को बहुउपयोगी करार दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में विकास नाम की कोई चीज नहीं है। सरकार को जश्न मनाने के बजाय शर्मिंदगी महसूस करते हुए जनता से माफी मांगनी चाहिए।

मुख्यमंत्री-उपमुख्यमंत्री लड़ने में समय खराब कर रहे हैं और प्रदेश की जनता अपने को ठगा सा महसूस कर रही है। उन्होंने सरकार को निकम्मी, बेशर्म, जनविरोधी सरकार करार दिया। पत्रकार वार्ता में उपस्थित पूर्व शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाया कि सरकार के वादाखिलाफी के एक साल में 365 पाप किए गए हैं। उन्होंने एक सर्वे हवाला देते हुए राजस्थान को भ्रष्टतम राज्य बताते हुए कहा कि कांग्रेसराज में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है।

इसे भी पढ़ें :- राजस्थान की कांग्रेस सरकार हर मोर्चे पर विफल : पूनियां

सरकार किसान विरोधी है यह बात भी इस तथ्य से उजागर होती है कि उसे 99 हजार 995 करोड़ का कर्जा माफ करना था लेकिन वह 5600 करोड़ का कर्जा ही माफ कर पाई। जहां एक लाख कृषि कनेक्शन दिए जाने थे वहां 18 हजार कृषि कनेक्शन दे पाई। प्रदेश में 27 लाख बेरोजगार है लेकिन महज 32 हजार को ही भत्ता दिया जा रहा है, डेढ़ लाख संविदा कर्मियों के लिए कोई निर्णय नहीं हो सका है। चिकित्सा सेवा भी चरमराई हुई है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});