जानें, क्यों 18+ उम्र के के लोगों  के लिए वैक्सीनेशन है मुश्किल - Naya India
देश | झारखंड | ताजा पोस्ट | पंजाब | राजस्थान| नया इंडिया|

जानें, क्यों 18+ उम्र के के लोगों  के लिए वैक्सीनेशन है मुश्किल

New Delhi: केंद्र सरकार (Central Government) ने ऐलान किया है कि 1 में से 18 साल से ज्यादा के उम्र के लोगों के लिए वैक्सीनेशन की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी. लेकिन गैर भाजपाई राज्यों (Non-BJP State) के मुख्यमंत्री ने इस वैक्सीनेशन प्रक्रिया पर गंभीर सवाल खड़े किए हैं. राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा (Raghu Sharma) का कहना है कि भारत सरकार ने 1 मई से 18 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए वैक्सीन दिए जाने का तो एलान कर दिया है लेकिन इसे लेकर कोई तैयारी नहीं गई गई है. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जब हमने सिरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (Siram Institute of India) से बात की तो उन्होंने बताया कि भारत सरकार ने जितने आर्डर दिए हैं उन्हें पूरा करने में कम से कम 15 मई तक का समय लगेगा. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि  ऐसे में कंपनी से 15 मई के पहले ज्यादा वैक्सीन की उम्मीद करना गलत होगा.

झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री ने उत्पादन हाईजैक करने का लगाया आरोप

बता दें कि झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Of Jharkhand Hemant Soren) ने भी ऐलान किया है कि वह अपने प्रदेश के लोगों को फ्री में कोरोना वैक्सीन देंगे. लेकिन जेएमएम के साथ सरकार में शामिल कांग्रेस के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि केंद्र सरकार ने कोरोना की दोनों वैक्सीन के उत्पादन को पूरी तरह से हाईजैक कर लिया है.  स्थितियां कुछ ऐसी बन गई है कि झारखंड सरकार वैक्सीन खरीद ही नहीं पा रही है . स्वास्थ्य मंत्री ने भारत सरकार पर वैक्सिंग के हाईजैक करने के साथ का गंभीर आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को गैर भाजपा शासित राज्यों के लिए भी वैक्सीन आवंटित करनी चाहिए.

इसे भी पढें- Bengal Assembly Election 2021: 34 सीटों पर सातवें चरण के लिए सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान शुरू

पंजाब सरकार ने भी उठाए सवाल

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (CM Of Punjab Amrinder singh)  ने कहा है कि हमारे पास अब कोरोना कि ज्यादा वैक्सीन नहीं बची है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार से लगातार मांग करने के बाद भी हमें अब तक वैक्सीन उपलब्ध नहीं कराई जा सकी है.  ऐसे में 1 मई से कोरोना की वैक्सीन लगाने का कार्य कैसे शुरू हो सकता है. उन्होंने कहा कि जब कोरोना वैक्सीन का निर्माण करने वाली कंपनियां अभी इतने ज्यादा निर्माण को लेकर तैयार नहीं है तो ऐसे में केंद्र सरकार की यह घोषणा सिर्फ जनता को लुभाने वाली समझ आती है.

इसे भी पढें- Corona Effect: कोरोना संक्रमित पिता को सड़क पर मरने के लिए छोड़,  भाग निकले बेटा-बहू

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें