चीन का बेकाबू राॅकेट आज गिरेगा धरती पर, हो सकती है भारी तबाही - Naya India
ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया|

चीन का बेकाबू राॅकेट आज गिरेगा धरती पर, हो सकती है भारी तबाही

नई दिल्ली। दुनिया के लिए कई दिनों से सिरदर्द बना चीन का राॅकेट ( Chinese Rocket ) आज धरती पर गिर सकता है। यह चीनी रॉकेट धरती की तरफ तेजी से बढ़ रहा है। विशेषज्ञों का मानना है कि शनिवार को यह रॉकेट किसी भी वक्त धरती पर गिर सकता है। इस रॉकेट को लेकर विशेषज्ञ कई प्रकार की संभावनाएं जता रहे हैं। उनका कहना है कि, यह रॉकेट धरती के वातावरण में प्रवेश करते ही जलने लगेगा या इससे पहले ही जल जाएगा तो इसका जोखिम कम हो जाएगा। अगर यह आबादी वाले इलाकों में गिर गया तो काफी नुकसान होने की संभावना है। लेकिन वैज्ञानिक ये पता नहीं लगा पाए है कि यह धरती के किस कौने में गिरेगा।

यह भी पढ़ेंः – भारत हमारा दोस्त! US की उपराष्ट्रपति Kamala Harris बोली- करेंगे हरसंभव मदद

राॅकेट की रफ्तार चार मील प्रति सेकेंड
चीन ने 29 अप्रेल को अपने स्पेस स्टेशन ‘भ्मंअमदसल च्ंसंबम’ के लिए पहले मॉड्यूल को लॉन्च किया था। शक्तिशाली लॉन्ग मार्च 5इ रॉकेट से अंतरिक्ष में मानव की स्थायी मौजूदगी को प्रयोग किया जा रहा है। इस समय रॉकेट की ऊंचाई को देखते हुए धरती पर प्रवेश करने का अनुमान लगाना बहुत मुश्किल है। ये अभी 150 से 250 किलोमीटर की ऊंचाई पर है। यह रॉकेट बहुत तेजी से धरती की ओर बढ़ रहा है। इसकी चार मील प्रति सेकेंड की रफ्तार है, जिससे दो घंटे में पृथ्वी के चक्कर लगाया जा सकता है।

यह भी पढ़ेंः – विमान वाहक पोत INS विक्रमादित्य में आग, फायर फाइटिंग ऑपरेशन से काबू पाया काबू

कुछ विशेषज्ञों को डर है कि अगर यह राकेट किसी बड़े आबादी वाले हिस्से में गिरा तो काफी तबाही मचा देगा। एक रिपोर्ट के अनुसार लॉन्ग मार्च 5-बी रॉकेट करीब 100 फीट लंबा है। यह अनियंत्रित होने के बाद पिछले दिनों से यह धरती के 30 से ज्यादा बार चक्कर लगा चुका है। यह रॉकेट 1 घंटे में 28000 मील की दूरी तय कर रहा है। यह करीब 21 टन का है।  ऐसी आशंका जताई जा रही है कि इस रॉकेट का मलबा न्यूयॉर्क, मैड्रिड और पेइचिंग जैसे शहरों में कहीं भी गिर सकता है। इसके अलावा अमेरिका और चीन का अधिकतर हिस्सा भी शामिल है। वैज्ञानिकों का कहना है कि रॉकेट का सबसे संभावित लैंडिंग जोन पानी है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow