nayaindia जेएनयू हिंसा को लेकर कांग्रेस और भाजपा छात्र इकाइयों के बीच झड़प - Naya India
kishori-yojna
ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया|

जेएनयू हिंसा को लेकर कांग्रेस और भाजपा छात्र इकाइयों के बीच झड़प

अहमदाबाद। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जूएनयू)में हुई हिंसा के विरोध में यहां प्रदर्शन कर रही कांग्रेस की छात्र इकाई एनएसयूआई तथा भाजपा की छात्र इकाई अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यकर्ताओं के बीच आज सुबह झड़प हो गयी।

जिसमें एनएसयूआई के महासचिव तथा कांग्रेस मेें शामिल पाटीदार आरक्षण आंदोलन के पूर्व नेता हार्दिक पटेल के करीबी निखिल सवाणी का सिर फूट गया और आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हो गये।

इसे भी पढ़ें :- सुप्रीम कोर्ट परिसर में वकीलों ने पढ़ी संविधान की प्रस्तावना

एनएसयूआई के कार्यकर्ता जब पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार शहर के पालडी स्थित परिषद के कार्यालय की घेरेबंदी कर विरोध के लिए जा रहे थे तभी दोनो पक्षों में संघर्ष हो गया। मौके पर पहले से ही पुलिस तैनात थी। इस दौरान पत्थरबाजी भी हुई। छात्राें ने लाठी डंडे से भी एक दूसरे पर प्रहार किया। भाजपा के युवा मोर्चा के अध्यक्ष रित्विज पटेल ने कहा कि दोनो पक्षों में संघर्ष हुआ है और वह हिंसा का समर्थन नहीं करते।

उधर सवाणी ने आरोप लगाया कि उन्हें रित्विज समेत सात आठ लोगों ने पीटा। एनसएयूआई के एक अन्य नेता ने बताया कि उनके कम से काम पांच कार्यकर्ता घायल हुए हैं। संगठन ने बाद में एक ट्विट संदेश जारी कर आरोप लगाया कि इस घटना के लिए एबीवीपी के गुंडे जिम्मेंदार हैं। पुलिस इस दौरान दिल्ली की तरह ही नाटक करती रही।

उधर परिषद के कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि एनएसयूआई के लोग छुरी और डंडे लेकर प्रदर्शन करने आये थे। वे वाहनों में भी आगजनी करना चाहते थे। परिषद के प्रवक्ता समर्थ भट्ट ने पत्रकारोंं से कहा कि पूरा षडयंत्र कांग्रेस मुख्यालय में रचा गया था। परिषद के दो कार्यकर्ता आनंद और भौतिक पटेल इस घटना में घायल हुए हैं। परिषद के कार्यकर्ताओं ने जो कुछ भी किया वह आत्मरक्षा के लिए किया।

इस बीच एनएसयूआई के एक कार्यकर्ता ने बताया कि जब वह प्रदर्शन करने जा रहे थे तभी उन्हें परिषद के लोगों ने भगा दिया। पुलिस ने भी उनके ही लोगों की पिटायी की। गुजरात प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता मनीष दोशी ने कहा कि वह इस घटना की कड़ी निंदा करते हैं। यह हमला पूर्व नियोजित था। लोकतांत्रिक ढंग से प्रदर्शन करने वालों पर हमला करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।
पुलिस ने कहा कि पूरे मामले की विस्तृत पड़ताल की जा रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × two =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
’अडानी’ से पिछड़ना ’अंबानी’ को नहीं भाया! फिर से पछाड़ भारत के सबसे अमीर शख्स बने अंबानी
’अडानी’ से पिछड़ना ’अंबानी’ को नहीं भाया! फिर से पछाड़ भारत के सबसे अमीर शख्स बने अंबानी