coal crisis in india सरकार ने कोयले की कमी मानी
ताजा पोस्ट | समाचार मुख्य| नया इंडिया| coal crisis in india सरकार ने कोयले की कमी मानी

सरकार ने कोयले की कमी मानी

coal crisis in india

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली सहित देश के कई राज्यों में थर्मल पावर प्लाटंस में कोयले की कमी और बिजली उत्पादन में आ रही दिक्कतों के बीच केंद्र सरकार ने स्वीकार किया है कि कोयले के स्टॉक में कमी आई है पर सरकार जल्दी ही उसे दूर कर देगी। इससे पहले सरकार इस संकट को स्वीकार ही नहीं कर रही थी। मंगलवार को कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी ने कहा कि भारी बारिश की वजह से आयातित कोयले की कीमत में बढ़ोतरी हो गई, जिससे कई थर्मल पावर प्लांट्स को दिक्कत हुई है। coal crisis in india

coal shortage in india

coal crisis in india

Read also लखीमपुर में किसानों के कई संकल्प

कोयला मंत्री ने बताया कि प्रहलाद जोशी ने कहा कि सोमवार को 1.94 मिलियन टन कोयले की आपूर्ति की गई है। उन्होंने कहा कि यह घरेलू कोयले की एक दिन में हुई अब तक की सबसे बड़ी आपूर्ति है। जोशी ने कहा- जहां तक राज्यों का सवाल है तो जून तक उनसे स्टॉक बढ़ाने को कहा है। गौरतलब है कि कई राज्यों में कोयले का स्टॉक खत्म होने से बिजली उत्पादन प्रभावित हुआ है और कई जगह ब्लैक आउट की आशंका जताई जा रही है। कई प्लांट्स में दो से तीन दिन का ही कोयला बचा है।

Read also जस्टिस मिश्रा ने की शाह की तारीफ

इस बीच केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय ने नेशनल थर्मल पावर कारपोरेशन, एनटीपीसी और दामोदर वेली कारपोरेशन को निर्देश दिए हैं कि वे राजधानी दिल्ली में मांग के मुताबिक बिजली सप्लाई करना जारी रखें। ऊर्जा मंत्रालय ने कहा है कि दिल्ली की कंपनियों को उनकी मांग के मुताबिक ही बिजली दी जाएगी। केंद्र सरकार की ओर से दिए गए इस निर्देश का मतलब है कि दिल्ली को जितनी बिजली की जरूरत होगी, उतनी ही सप्लाई की जाएगी। इससे कम बिजली मिलने की शिकायत दूर होगी।

Read also चारा घोटाले का खुलासा करने वाले IAS अधिकारी रहे अमित खरे PM Modi के सलाहकार नियुक्त

कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कोयले की कमी स्वीकार करते हुए कहा है कि बहुत ज्यादा बारिश होने के चलते कोयले की बीच में थोड़ी कमी हुई थी। इस कारण कोयले के अंतरराष्ट्रीय दाम अचानक बहुत ज्यादा बढ़ गए थे। उन्होंने कहा है- आयातित कोयले पर आधारित पावर प्लांट्स 15 से 20 दिन से लगभग बंद हो गए हैं या बहुत कम उत्पादन कर रहे हैं। एक एजेंसी को दिए इंटरव्यू में कोयला मंत्री ने मंगलवार को कहा है- पहले जो 15 से 20 दिन का कोयले का स्टॉक था वो कम हुआ है लेकिन कल कोयले का स्टॉक बढ़ा है। मुझे विश्वास है कि कोयले का स्टाक आने वाले दिनों में और बढ़ेगा, घबराने की जरूरत नहीं है।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
समूचा सुरक्षा सिनेरियो बदला
समूचा सुरक्षा सिनेरियो बदला