nayaindia Local Leaders Unable to Reach Close To Rahul राहुल के करीब नहीं पहुंच पा रहे स्थानीय नेता
kishori-yojna
ताजा पोस्ट | देश | मध्य प्रदेश| नया इंडिया| Local Leaders Unable to Reach Close To Rahul राहुल के करीब नहीं पहुंच पा रहे स्थानीय नेता

राहुल के करीब नहीं पहुंच पा रहे स्थानीय नेता

भोपाल। भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) पर निकले कांग्रेस (Congress) के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) इन दिनों मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में है। उनकी यात्रा का राज्य में आज आठवां दिन है और वह राज्य के अंतिम छोर पर पहुंचने के करीब है। इस यात्रा ने जहां कांग्रेस को उत्साहित किया है तो वही उन इलाकों के नेताओं को निराश भी किया है जहां से यह यात्रा गुजरी क्योंकि वहां के स्थानीय नेता चाह कर भी राहुल के करीब नहीं पहुंच पा रहे हैं। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा नें मध्य प्रदेश में 23 नवंबर को प्रवेश किया था। यह यात्रा बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन, इंदौर होते हुए उज्जैन पहुंच चुकी है। 

इस यात्रा में राज्य के तमाम बड़े कांग्रेसी नेता गाहे-बगाहे राहुल गांधी के साथ नजर आ जाते हैं, मगर यह यात्रा जिन इलाकों से गुजरी है या गुजर रही है वहां के स्थानीय नेता राहुल गांधी के करीब पहुंचने की हर संभव कोशिश करते है, मगर बड़ी संख्या में ऐसे कार्यकर्ता और नेता हैं, जो राहुल गांधी के करीब ही नहीं पहुंच पा रहे हैं। पार्टी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि राहुल गांधी की यात्रा के लिए खास तरह से तैयारी की गई है और राहुल गांधी किससे, कब और कहां मिलेंगे यह मैनेजमेंट के काम में लगी टीम तय करती है। इतना ही नहीं जिनसे उनकी मुलाकात होना होती है उसे कुछ घंटे पहले ही सूचना दे दी जाती है तो वहीं कुछ बड़े नेता अपने करीबियों को राहुल गांधी से मुलाकात कराने में भूमिका निभाते नजर आते हैं। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) से गुजर रही भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) के दौरान कई बड़े नेता, फिल्म इंडस्ट्रीज (Film Industries) के अभिनेता राहुल गांधी से न केवल मिले बल्कि उन्होंने कई किलोमीटर की यात्रा भी की। 

वहीं दूसरी ओर वे नेता राहुल गांधी के करीब जाने के लिए तरसते रहे जिनके इलाकों से होकर यह यात्रा गुजरी। राहुल गांधी की यात्रा को लेकर जहां पार्टी के नेता और कार्यकर्ता उत्साहित थे वही राहुल गांधी के करीब तक न पहुंचने से स्थानीय नेताओं के हिस्से में निराशा आई है। इसकी वजह भी है क्योंकि स्थानीय नेता अपने-अपने इलाके में इस बात का जोर-शोर से प्रचार करते आए हैं कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा उनके क्षेत्र से गुजर रही है और वे भी राहुल गांधी से मिलेंगे मगर ऐसा हुआ नहीं। कई स्थानों पर तो स्थानीय नेताओं को धक्का-मुक्की तक का सामना करना पड़ा और उन्हें सुरक्षा के नाम पर पीछे धकेल दिया गया। (आईएएनएस)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × 3 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
आसाराम की सजा बहुत कम है
आसाराम की सजा बहुत कम है