शहरी निकाय चुनाव में कांग्रेस ने भाजपा को धूल चटाई - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया|

शहरी निकाय चुनाव में कांग्रेस ने भाजपा को धूल चटाई

जयपुर। राजस्थान में 49 नगर निकाय चुनावों में अधिकतर पर कांग्रेस का दबदबा दिखाई दे रहा है तथा कुछ में कांग्रेस निर्दलियों के सहारे बोर्ड बनाने की स्थिति में आ गयी है।

भाजपा को उदयपुर नगर निगम में स्पष्ट बहुमत मिल गया, लेकिन भरतपुर और बीकानेर में बढ़ते के बावजूद बोर्ड बनाने की स्थति में नहीं है, यहां भी सत्तारूढ़ कांग्रेस निर्दलियों के बल पर बोर्ड बनाने का प्रयास कर रही है।

 

इसे भी पढ़ें :- बाड़मेर नगर परिषद में लगातार तीसरी बार कांग्रेस, बालोतरा में भाजपा जीती

कांग्रेस ने भरतपुर नगर परिषद तथा रूपवास नगर पालिका में पिछड़ने के बावजूद बोर्ड बनाने की घोषणा कर दी है। गहलोत सरकार के मंत्री विश्वेंद्र सिंह तथा भजनलाल जाटव निर्दलियों को गोलबंद करने के काम में जुट गये हैं। शेखावटी के झुंझुनू, सीकर और चुरु में कांग्रेस बोर्ड बनाने की स्थिति में है जबकि उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के विधानसभा क्षेत्र टोंक में कांग्रेस निर्दलियों के बल पर बोर्ड बना लेगी।

विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी के चुनाव क्षेत्र नाथद्वारा में भी कांग्रेस का बोर्ड बनना तय है। झुंझुनू नगर परिषद तथा बिसाऊ नगर पालिका में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत मिला है, जबकि पिलानी में कांग्रेस और भाजपा को दो दो वार्डों पर ही जीत मिल पाई। यहां 31 वार्डों में निर्दलीय निर्वाचित हुए हैं तथा निर्दलीय ही बोर्ड बनायेंगे। सीकर में कांग्रेस ने स्पष्ट बहुमत हासिल कर लिया है।

इसे भी पढ़ें :- गांधी परिवार सुरक्षा मुद्दा, कांग्रेस का लोकसभा से बहिर्गमन

सिरोही में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत मिला है, जबकि जालौर में कांग्रेस निर्दलियों के सहारे बोर्ड बनाने की स्थिति में है। शिवगंज में भी कांग्रेस बढ़त में है, लेकिन पिंडवाड़ा में भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिल गया है। नीम का थाना में बड़ी पार्टी के रूप में कांग्रेस आगे है, लेकिन खाटूश्यामजी में भाजपा को साधारण बहुमत मिल गया है।

श्रीगंगानगर में कांग्रेस हालांकि भाजपा से पिछड़ गयी है, लेकिन निर्दलियों के बल पर वह बोर्ड बना सकती है। हनुमानगढ़ और सूरतगढ़ में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत मिल गया है। बाड़मेर में कांग्रेस लगातार तीसरी बार जीतने में सफल रही जबकि बालोतरा में भाजपा का बोर्ड बनना तय है। भाजपा के गढ़ माने जाने वाले चित्तौड़गढ़ में भी भाजपा को हार का सामना करना पड़ा है।

हाड़ौती क्षेत्र के सांगोद, कैथून और छबड़ा में भाजपा पीछे है जबकि मांगरोल में कांग्रेस पिछड़ चुकी है। पूर्व परिवहन मंत्री युनूस खान के क्षेत्र डीडवाना में कांग्रेस ने भाजपा को बुरी तरह हराया है। अलवर नगर परिषद में भाजपा को बढ़त मिली है, लेकिन कांग्रेस निर्दलियों के सहारे बोर्ड बनाने का प्रयास कर रही है। थानागाजी और भिवाड़ी में भी कांग्रेस निर्दलियों के बल पर बोर्ड बनाने की स्थिति में हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *