कांग्रेस ने गरीबी हटाने की केवल बातें की, मोदी ने की है इसकी शुरूआत : शाह - Naya India
ताजा पोस्ट| नया इंडिया|

कांग्रेस ने गरीबी हटाने की केवल बातें की, मोदी ने की है इसकी शुरूआत : शाह

गांधीनगर। केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज कहा कि लंबे समय तक सत्ता में रहे कांग्रेस ने वर्षों तक देश से गरीबी हटाने की केवल बातें ही की पर ऐसा किया नहीं। शाह ने अपने लोकसभा क्षेत्र गांधीनगर में विभिन्न सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को संबंधित लाभों के वितरण के कार्यक्रम में कहा कि कांग्रेस ने गरीबी हटाने की बातें की पर असल में गरीबों को ही हटाने का काम किया। अगर लंबे समय तक सत्तारूढ़ रहीं इस पार्टी ने गरीबी को सच में हटाने का काम किया होता तो आज उन्हें गरीब माताओं को गैस चूल्हे और लोगों को रहने के लिए घर नहीं बांटना पड़ता।

उन्होंने कहा कि गरीब परिवार में पले बढ़े और गरीबी का स्वयं अनुभव करने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ही सच्चे अर्थों में गरीबी को हटाने की शुरूआत की है।
शाह ने मोदी सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की चर्चा करते हुए कहा कि एक गैर सरकारी संगठन के अध्ययन में यह बात सामने आयी है कि केवल उज्जवला योजना के तहत गैस मिलने और शौचालय मिलने से गरीबों के स्वास्थ्य में 70 प्रतिशत का सुधार हुआ है। कई लोग कहते थे कि मोदी सरकार 21 वीं सदी में गैस और शौचायल की बाते क्यों करती है। पर मोदी ने यह दिखाया है कि उनके जैसा प्रधानमंत्री ही एक छोटे से छोटे आदमी के जीवन में सुधार के बारे में सोच सकता है। ऐसा इसलिए है कि वह स्वयं गरीबी से उठ कर प्रधानमंत्री बने हैं। गरीबों के लिए पांच साल में कई काम करने के बाद अब उन्हें शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने का संकल्प भी श्री मोदी ने लिया है जिसके तहत जल शक्ति मंत्रालय का गठन हुआ है और 2024 तक हर घर में पाइपलाइन से शुद्ध पेयजल पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है।
शाह ने कहा कि यूं तो मोदी ने बहुत तरह के अच्छे काम किये हैं पर उनका सबसे अच्छा काम 50 करोड़ लोगों के जीवन को बेहतर बनाना है। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि वह स्वयं व्यस्त तो रहते हैं पर अपने संसदीय क्षेत्र गांधीनगर को प्राथमिकता देते हैं। हर संसद अगर अपने मत विस्तार को ठीक कर ले तो देश अपने आप ठीक हो जाये।

इस मौके पर शाह ने महात्मा गांधी के 150 वर्ष की चर्चा भी की और उनके सिद्धांतों को शाश्वत बताया। उन्होंनेमोदी की ओर से प्लास्टिक मुक्ति के अभियान को भूगर्भ जल के सरंक्षण के लिए बहुत फायदेमंद बताते हुए महिलाओं से प्लास्टिक के थैले की जगह कपड़े के झोले इस्तेमाल करने की अपील भी की।
बाद में निकटवर्ती कलोल में भी उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि वह अपने संसदीय क्षेत्र में आते रहना चाहते हैं । उन्होंने मजाकिया लहजे में कहा कि वह अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों से मिलेंगे और काम करेंगे और साथ ही साथ जो दादागिरी करेगा उसे ठीक भी करेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});