inflation and corona compensation महंगाई और मुआवजे का मुद्दा उठाएगी कांग्रेस
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| inflation and corona compensation महंगाई और मुआवजे का मुद्दा उठाएगी कांग्रेस

कांग्रेस उठाएगी महंगाई का मुद्दा

inflation and corona compensation

नई दिल्ली। संसद के शीतकालीन सत्र की रणनीति तय करने के लिए कांग्रेस पार्टी की एक अहम बैठक गुरुवार को होगी। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने यह बैठक बुलाई है। बताया जा रहा है कि कांग्रेस पार्टी संसद सत्र के दौरान महंगाई का मुद्दा प्रमुखता से उठाएगी और साथ ही कोरोना वायरस के संक्रमण से मरने वाले लोगों के परिजनों को चार लाख रुपए का मुआवजा दिलाने का मुद्दा भी उठाएगी। इस बारे में गुरुवार को होने वाली कांग्रेस संसदीय रणनीति समूह की बैठक में फैसला होगा।

उससे पहले कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा है- हम संसद के आगामी सत्र में महंगाई का मुद्दा उठाएंगे। आगामी संसद सत्र की रणनीति को अंतिम रूप देने के लिए कांग्रेस संसदीय रणनीति समूह की 25 नवंबर को नई दिल्ली में बैठक होगी। दूसरी ओर केंद्र सरकार ने संसद का शीतकालीन सत्र शुरू होने से एक दिन पहले 28 नवंबर को सर्वदलीय बैठक बुलाई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बैठक में शामिल हो सकते हैं।

Read also Congress मजबूत सीएम को नहीं करता बर्दास्त, कैप्टन अमरिंदर बोले-अगला नंबर गहलोत का…

संसद के शीतकालीन सत्र में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी फिर से कोरोना को मुद्दा बनाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने ट्विटर पर कांग्रेस के न्याय अभियान के तहत एक संक्षिप्त वीडियो में गुजरात के कोरोना पीड़ि‍त परिवार का जिक्र करते हुए सरकार से कहा है- हमारी दो ही मांग है, कोरोना के मृतकों के सही आंकड़े बताए जाएं और दूसरा कोरोना के चलते अपने प्रियजनों को खो चुके परिवारों को चार लाख रुपए मुआवजा दिया जाए।

राहुल ने कहा है कि गुजरात मॉडल की खूब बातें होती हैं मगर उन लोगों ने जिन परिवारों से बात की सबने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान बेड, वेंटिलेटर कहीं उपलब्ध नहीं था और सरकार ने कोई मदद नहीं की। राहुल गांधी ने इस वीडियो में दावा किया है कि गुजरात सरकार कोरोना की वजह से सिर्फ 10 हजार लोगों की मौत होने की बात कह रही है मगर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने घर-घर जाकर सर्वे किया है और उनका आकलन है कि राज्य में तीन लाख से अधिक लोगों की कोरोना के चलते मौत हुई है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
आंध्र प्रदेश विधान परिषद की कहानी
आंध्र प्रदेश विधान परिषद की कहानी