भाजपा शासन में देश का संविधान खतरे में : अखिलेश

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार पर दलितों, पिछड़ों तथा सवर्णों को अपमानित किये जाने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा शासन में देश का संविधान खतरे पड़ गया है।

यादव ने आज यहां कहा कि भाजपा शासन में दलितों, पिछड़ों, सवर्णों सभी को अपमानित किया जा रहा है। इनके शासन में देश का संविधान खतरे पड़ गया है। इस सरकार को हटाकर एक अच्छी सरकार बनाना है।

सपा अच्छे लोगों को अपने साथ जोड़ रही हैं। जनहित की सरकार बनेगी तभी खुशहाली आएगी। शिक्षा, स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के साथ अवस्थापना सुविधाओं का भी विस्तार होगा। किसानों को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि हम सभी जाति, धर्म और वर्गों को साथ लेकर चलते है। समाजवादियों की यही सोच है कि साइकिल को दो पहियों में एक डाॅ0 अम्बेडकर की तो दूसरी डाॅ0 लोहिया की विचारधारा है। सपा सभी को साथ लेकर चलने की हिमायती है।

यादव ने कहा कि भाजपा और बसपा दोनों सपा को हराने में एक साथ है, आखिर कोई वजह तो इसके पीछे होगी जिससे दोनों ही हमसे लड़ना चाहती हैं। जबकि हमारा लक्ष्य 2022 के विधानसभा चुनाव पर हैं। उन्होने कहा कि कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। यह बीमारी जहां से चली थी वहां और फैल रही है। दुबारा लाॅकडाउन हुआ तो हमारी रोटी-रोजगार का क्या होगा।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार विकास पर बहस नहीं चाहती है। किसान को ड्योढी कीमत देने का क्या हुआ। मंडियों की स्थापना कहां हुई। अनावश्यक मुद्दों पर भाजपा जनता को गुमराह करना चाहती है। यादव ने कहा कि भाजपा सरकारी सम्पत्ति को बेच रही है। मुख्यमंत्री के गृह जिला में अपराध थम नहीं रहे हैं। बेटियों की सुरक्षा के लिए सपा सरकार में 1090 सेवा से आठ लाख बहनों को मदद मिली थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares