IPL2021: पिता के सेवा करने के मौके को इस खिलाड़ी ने 2 दिन पहले बताया था भाग्य, आज नहीं रहे पिता

Must Read

New Delhi: देश में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच एक के बाद एक मौतों के होने की खबर मिल रही है. ताजा मामला राजस्थान रॉयल्स के युवा तेज गेंदबाज से जुड़ा है. IPL 2021 में राजस्थान रॉयल्स की तरफ से खल रहे चेतन सकारिया  के पिता का आज कोरोना से निधन हो गया. बता दें कि सकरिया के पिता कांजीभाई ने सात दिनों पहले संक्रमित पाए गये थे. उनका इलाज गुजरात के भावनगर के एक अस्पताल में चल रहा था. अस्पताल में ही इलाज के दौरान उनका निधन हो गया. जानकारी के अनुसार पिता से सकरिया ने एक दिन पहले ही मुलाकात की थी. IPL 2021 के रद्द किये जाने के बाद सकरिया 4 मई को अपने घर लौटे थे इसके बाद वे तुरंत अपने पिता से मिलने अस्पताल पहुंच गये थे.

दो दिन पहले ही खुद को बताया था भाग्यशाली

दो दिनें पहले ही मीडिया से बात करते हुए सकरिया ने  एक इमोश्नल स्टोरी सुनायी थी. चेतन ने कहा था कि आईपीएल 2021 के पैसे उनके काम आएंगे. उन्होंने कहा था कि वे भाग्‍यशाली हैं क्‍योंकि कुछ दिनों पहले मुझे राजस्‍थान रॉयल्‍स से मेरा हिस्‍से का भुगतान कर दिया.  चेतन ने कहा था कि उन्होंने  साारे पैसे घर भेज जिये थे और इससे मेरे पिता को सबसे बड़े समय में मदद मिली. बता दें कि सकारिया को राजस्थान रॉयल्स ने इस आईपीएल सीजन 1.2 करोड़ की रकम में खरीदा था.

इसे भी पढें- Madrid Open : आस्ट्रेलिया की नंबर-1 अश्लेग बार्टी को हराकर सबालेंका बनीं मैड्रिड ओपन चैंपियन

पिता की देखरेख में व्यस्त थे सकरिया

सकारिया टूर्नामेंट के रद्द होने के बाद से लगातार पिता की सेवा में जुट गये थे.  लीग को स्थगित होने पर इस खिलाड़ी ने खुलकर बताया था कि कैसे ये उसके लिए सही रहा और अब वो कमाए हुए पैसों का कहां इस्तेमाल करेंगे. उन्होंने कहा कि लोग कह रहे थे कि  आईपीएल बंद करो. मैं उन्हें कुछ बताना चाहता हूं, मैं अपने परिवार में एकमात्र कमाने वाला हूं. क्रिकेट मेरी कमाई का एकमात्र स्रोत है. मैं अपने पिता को आईपीएल से मिले पैसे की वजह से बेहतर इलाज दे सकता हूं. अगर यह टूर्नामेंट एक महीने के लिए नहीं होता, तो यह मेरे लिए मुश्किल होता. मैं एक गरीब परिवार से आता हूं, मेरे पिता ने सारी जिंदगी टेम्पो चलाया और आईपीएल की वजह से मेरी पूरी जिंदगी बदलने वाली थी.

इसे भी पढें- Good news : मध्य प्रदेश् के जबलपुर की 226 पंचायतों में नहीं घुस सका Corona

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जानें सत्य

Latest News

‘चित्त’ से हैं 33 करोड़ देवी-देवता!

हमें कलियुगी हिंदू मनोविज्ञान की चीर-फाड़, ऑटोप्सी से समझना होगा कि हमने इतने देवी-देवता क्यों तो बनाए हुए हैं...

More Articles Like This