कोरोना: इटली ने मौतों के मामले में चीन को छोड़ा पीछे

लॉस एंजिलिस। इटली में कोरोना वायरस से अब हुई मौतों की संख्या ने चीन को भी पीछे छोड़ दिया है। वहीं तीन करोड़ 90 लाख से ज्यादा की आबादी वाले कैलिफोर्निया में कठोर लॉकडाउन लागू कर दिया गया है।

इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि अमेरिका में इस संक्रमण से बचाव के लिए जल्द से जल्द एंटीमलेरियल दवाएं लायी जा रही हैं। उन्होंने कल चीन पर आरोप लगाया कि चीन में कई महीने पहले फैले कोरोना वायरस के बारे में उस देश द्वारा जानकारी नहीं देने के कारण पूरी दुनिया आज बड़ी कीमत चुका रही है।

इस बीच, संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने चेतावनी दी कि यदि वायरस दुनिया भर में फैल गया तो लाखों लोगों की जान को खतरा हो सकता है। इटली में गुरूवार को 427 लोगों की मौत होने के बाद यूरोप में मृतकों की संख्या में वृद्धि देखने के मिली। एएफपी की आधिकारिक गणना के अनुसार इटली में कोरोना वायरस से अबतक 3,405 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। चीन ने आधिकारिक तौर पर अब तक 3,245 मौतों की पुष्टि की है।

इसे भी पढ़ें :- कोराना : निराधार सूचनाओं को साझा नहीं करें : सिंह

फ्रांस में पिछले 24 घंटों में 108 लोगों की मौत हो गई जिससे मृतक संख्या 327 पहुंच गई। एएफपी की गणना के अनुसार पूरे विश्व में 158 देशों में अबतक इस संक्रमण से 9,800 से अधिक लोगों की मृत्यु हो चुकी जबकि 232,650 लोग संक्रमित हैं। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुतारेस ने बृहस्पतिवार को चेतावनी दी अगर हम जंगल की आग की तरह विषाणु को फैलने देते हैं खासकर दुनिया के गरीब देशों में तो इससे लाखों लोगों की मौत हो सकती है।

ट्रंप ने कल चीन पर आरोप लगाते हुए कहा, यह चीन के जिस क्षेत्र में फैला था वहीं तक सीमित रह सकता था। और उन्होंने जो किया उसके लिए दुनिया निश्चित रूप से बड़ी कीमत चुका रही है। इटली में संक्रमण से मौतों की संख्या में भारी वृद्धि के मद्देनजर प्रधानमंत्री ज्युसेप कोंते ने देश भर में लॉकडाउन लागू करने के आदेश जारी कर दिए हैं। उसके बाद पूरे यूरोप में तीन अप्रैल तक लॉकडाउन कर दिया गया है। अर्जेंटिना में राष्ट्रपति अल्बर्टो फर्नांडिज ने देश भर में शुक्रवार से 31 मार्च तक एहतियातन लॉकडाउन की घोषणा की।

राजधानी रियो डि जेनेरियो अपने प्रसिद्ध बीच, रेस्तरां और बार अगले 15 दिनों तक बंद रखेगा। कैलिफोर्निया के गवर्नर गेविन न्यूसम ने कहा कि राज्य में गुरूवार शाम से लॉकडाउन लागू होगा। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि यदि लोग परामर्शों का पालन करें और लोगों से संपर्क ना करें तो हम 12 सप्ताह में कोरोना वायरस का देश से खात्मा कर सकते हैं। इस वायरस के संक्रमण से कोई अछूता नहीं है।

इसे भी पढ़ें :- कोविड-19 : गुजरात में 3 नए मामलों की पुष्टि

ईयू-ब्रेक्जिट वार्ताकार मिशेल बारनियर, मोनाको के प्रिंस अल्बर्ट द्वितीय और अमेरिका के लगभग छह एनबीए खिलाड़ियों में इस संक्रमण की पुष्टि हुई है। महामारी के कारण दुनिया की अर्थव्यवस्था की बिगड़ती हालत को संभालने के लक्ष्य से यूरोपीय सेन्ट्रल बैंक ने बुधवार देर शाम घोषणा में कहा कि वह 750 अरब यूरो की बांड खरीदारी योजना ला रही है। अमेरिका के वित्त मंत्री स्टीवन मेनुचिन ने संसद से एक लाख करोड़ अमेरिकी डॉलर का आपातकालीन प्रोत्साहन पैकेज पारित करने का आग्रह किया।

नाइजीरिया के शहर लागोस ने स्कूल बंद करने की घोषणा की जबकि बुर्किना फासो में कोरोना वायरस से पहली मौत की पुष्टि हुई। वहीं रूस में कोरोना वायरस के संक्रमण से एक बुजुर्ग महिला की मौत होने के साथ ही देश में पहली मौत दर्ज की गई। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड ने देश में प्रवासियों के आगमन पर प्रतिबंध लगा दिया है साथ ही वे संक्रमण की रोकथाम के लिए कठोर कदम उठा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares