मत्रिमंडल की बैठक में कोरोना मुख्य मुद्दा

देहरादून। उत्तराखंड मंत्रिमण्डल की आज पूर्वाह्न हुई बैठक में दुनिया भर में महामारी का रूप ले चुके कोरोना वायरस को फैलने से रोकने सम्बन्धी विषय मुख्य रहा।

सचिवालय स्थित अब्दुल कलाम आजाद स्मृति भवन में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट के फैसलों की मीडिया को शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने जानकारी दी। उन्होंने बताया कि करोना वायरस से निपटने के लिए सरकार पूरी तरह सजग और सतर्क है।

उन्होंने बताया कि राज्य के विशेष रूप से ऋषिकेश एवं टिहरी जनपद में आने वाले विदेशी पर्यटकों पर कड़ी निगरानी रखी जायेगी। साथ ही आवश्यकता पड़ने पर कुमाऊं विकास निगम लिमिटेड एवं गढ़वाल विकास निगम लिमिटेड के गेस्ट हाऊस और स्टेडियम को अधिकृत किया जायेगा।

कैबिनेट ने सभी विधायकों द्वारा अपने विधायक निधि से 15 लाख रुपये अपने-अपने जनपदों के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) को देने का निर्णय लिया। इस धनराशि का उपयोग आवश्यकतानुसार व्यय किया जा सकता है। राज्य में स्थित सभी मॉल 31 मार्च तक बंद रखने के निर्देश भी दिये गये हैं।

जबकि मुख्य सचिव प्रतिदिन और मुख्यमंत्री दो-तीन दिन के अंतराल पर स्थिति की समीक्षा करेंगे। कैबिनेट ने अपील की कि सभी निजी क्षेत्र ऐसी व्यवस्था करें जिससे आसपास भीड़ एकत्र न हों। मरीज में लक्षण पाये जाने पर उसकी तुरन्त अस्पताल को सूचना दें। उन्होंने बताया कि राज्य में स्थिति पूर्णतः नियंत्रण में है, इसलिए घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है।

इसके साथ, कैबिनेट ने गतिमान बजट सत्र को गैरसैंण के वजाय, अब देहरादून में ही संचालित करने और राज्य की वित्तीय स्थिति के मद्देनजर एक अर्थशास्त्री की नियुक्ति का फैसला किया है। पदोन्नति में आरक्षण के मामले में कैबिनेट ने रोस्टर के अनुरूप प्रोन्नति करने का आदेश पारित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares