कोरोना उपचार : सरकार और उपराज्यपाल में तकरार - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | दिल्ली| नया इंडिया|

कोरोना उपचार : सरकार और उपराज्यपाल में तकरार

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल के बीच हुई एक अहम बैठक के दौरान केजरीवाल सरकार व उपराज्यपाल के बीच मतभेद स्पष्ट तौर पर उभर कर सामने आए।

उपराज्यपाल ने कोरोना संक्रमित पाए जाने वाले प्रत्येक व्यक्ति के लिए कम से कम 5 दिन आइसोलेशन सेंटर में रहने का नियम बनाया है, जबकि दिल्ली सरकार ऐसा नहीं चाहती।

सरकार व उपराज्यपाल के बीच यह मतभेद शनिवार को उपराज्यपाल अनिल बैजल की अध्यक्षता में हुई दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी की एक अहम बैठक में सामने आए। दोनों पक्षों के बीच उभरे विरोध के कारण यह बैठक फिलहाल स्थगित कर दी गई है। अब यह बैठक शनिवार शाम 5 बजे दोबारा होगी।

राज्यपाल ने एक आधिकारिक आदेश जारी करते हुए कहा, दल्ली में कोरोना पॉजिटिव पाए जाने वाले सभी लोगों को 5 दिन के लिए आइसोलेशन सेंटर में रहना होगा। होम आइसोलेशन के दौरान कोरोना संक्रमितों को फोन करने वाली कंपनी की सेवाएं भी निरस्त कर दी गई हैं।

बैठक में मौजूद उपमुख्यमंत्री और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल के इस आदेश का विरोध किया। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया मनीष सिसोदिया ने कहा होम क्वारंटीन करने का फैसला अच्छा है इसे नहीं बदला जाना चाहिए।

वहीं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी इस फैसले पर अपना विरोध जताया। दिल्ली सरकार ने कहा, जो नियम पूरे देश भर के राज्यों पर लागू हो रहे हैं वहीं नियम दिल्ली पर क्यों लागू नहीं किए जा रहे। दिल्ली के लिए अलग नियम क्यों बनाया गया है। कहां से इतने डॉक्टर और नर्स उपलब्ध हो सकेंगे।

Latest News

बूचड़खानों पर रोकः बुनियादी सवाल ?
उत्तराखंड की सरकार ने हरिद्वार में चल रहे बूचड़खानों पर रोक लगा दी थी। वहां के उच्च न्यायालय ने इस रोक को…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});