nayaindia corona update जापान में एक हफ्ते में 12 लाख केस
kishori-yojna
ताजा पोस्ट | विदेश| नया इंडिया| corona update जापान में एक हफ्ते में 12 लाख केस

जापान में एक हफ्ते में 12 लाख केस

नई दिल्ली। चीन के बाद जापान कोरोना महामारी का नया केंद्र बन रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक जापान में एक हफ्ते में करीब 12 लाख नए केस आए हैं। खबरों के मुताबिक जापान में दो से आठ जनवरी के हफ्ते में 11 लाख 75 हजार से ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए। ‘जापान टुडे’ की रिपोर्ट के मुताबिक नौ जनवरी को 95,308 मामले सामने आए। गौरतलब है कि जापान को लकर विशेषज्ञों ने चेतावनी दी थी 15 जनवरी के बाद कोरोना के मामलों बढ़ सकते हैं। इसका मतलब है कि जापान में केसेज और बढ़ेंगे।

उधर अमेरिकी हेल्थ एजेंसी सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन, सीडीसी ने बताया कि एक्सबीबी.1.5 5 वैरिएंट के केसेस बढ़ते जा रहे हैं। देश के उत्तर-पूर्वी राज्यों में एक्सबीबी.1.5  वैरिएंट के ही 72 फीसदी मामले हैं। वहीं पूरे देश में इसके 28 फीसदी केसे हैं। यह वैरिएंट सबसे पहले न्यूयॉर्क में पाया गया था। भारत में भी इसके आठ केस मिले हैं। एक नया केस उत्तराखंड में मिला है। इससे पहले तीन मामले गुजरात में मिले थे। इसके अलावा कर्नाटक, तेलंगाना, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में एक एक केस मिले हैं।

चीन में भी कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि 13 जनवरी को चीन में कोरोना का पीक आ सकता है। इस दिन 37 लाख नए मरीज मिलेंगे। चीन में कोरोना के बढ़ते केसेज के बीच भारतीय दवाओं की मांग बढ़ गई है। बताया जा रहा है कि चीन में भारत की दवाओं के नाम पर फर्जी दवाओं की कालाबाजारी हो रही है।

बहरहाल, भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 121 नए मामले सामने आए और एक व्यक्ति की मौत हुई है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार की सुबह जारी किए गए अपडेट कड़ों के मुताबिक, देश में अभी 2,319एक्टिव केस हैं। आने वाले दिनों में चीन सहित दुनिया के और देशों में भी केसेज बढ़ेंगे। गौरतलब है कि चीन ने आठ जनवरी को तीन साल से बंद सभी बॉर्डर खोल दिए गए। जीरो कोविड पॉलिसी के तहत सीमा बंद की गई थी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − fifteen =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
घरेलू मांग और पूंजी निवेश विकास में मददगार
घरेलू मांग और पूंजी निवेश विकास में मददगार