Corona Vaccination: जानें, कोरोना की वैक्सीन पर बढ़ते गैप पर किसका क्या है कहना .... - Naya India
ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया|

Corona Vaccination: जानें, कोरोना की वैक्सीन पर बढ़ते गैप पर किसका क्या है कहना ….

New Delhi: देश में कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत को अच्छा खासा समय हो गया है. कई चरणों में हुए टीकाकरण को लेकर लोगों में अब तक असमंजस की स्थिति बनी हुई शुरुआत में केंद्र सरकार द्वारा लोगों से 6 सप्ताह का गैप करने के लिए कहा गया था इसके बाद यह समय अवधि बढ़ाकर 8 सप्ताह के लिए कर दी गई. अब एक बार फिर से वैक्सिंग के डोज के बीच के गैप को 16 सप्ताह कर दिया गया है. ऐसे में लोगों के मन में तरह-तरह के सवाल आ रहे हैं. कुछ लोगों का कहना है कि क्या जिन लोगों ने दोनों वैक्सीन 4 सप्ताह के गैप के अंदर ले लिए हो वह फायदे में रहे हैं. या फिर ऐसे लोगों पर वैक्सीन का असर कम होगा या उनकी इम्यूनिटी पर असर पड़ेगा.. वैक्सीन के गैप को 16 सप्ताह तक किए जाने के बाद से लोगों के मन में कई तरह के सवाल आ रहे हैं. कई राजनीतिक पार्टियों का कहना है कि केंद्र सरकार लोगों के लिए वैक्सीन उपलब्ध नहीं करा पा रही है इसलिए इस तरह के काम किए जा रहे हैं.

क्या बोले सिरम इंस्टिट्यूट के CEO अदार पूनावाला

कोविशिल्ड को लेकर अलग-अलग गाइडलाइन जारी होने के बाद लोगों के मन में असमंजस की स्थिति बनी हुई है. ऐसे में अदार पूनावाला ने कहा है कि कोरोना के टीके के बीच का अंतर कम से कम 3 महीने का होना चाहिए. उन्होंने कहा कि दूसरे देशों से जो परिणाम सामने आ रहे हैं उससे स्पष्ट है कि यदि टीकाकरण के बीच 3 महीने का अंतर हो तो टीका का प्रभाव 90 प्रतिशत तक बढ़ जाता है. उन्होंने दावा किया कि इससे लोगों को ही फायदा होना है लेकिन टीकाकरण में थोड़ा ज्यादा समय लग सकता है. पूनावाला का कहना है कि ऐसे हालातों में हमें लोगों के स्वास्थ्य के विषय में ज्यादा सोचना चाहिए ना की लगने वाले समय के बारे में.

इसे भी पढ़ें-  MP : प्रेग्नेंट महिला के संपर्क में आए 35 लोग, सभी हो गए कोरोना पाॅजिटिव, गांव में मचा हड़कंप

रिसर्च में सामने आई है यह बात

जानकारी के अनुसार ब्राज़ील और साउथ अफ्रीका में 17000 से ज्यादा लोगों पर कोविशिल्ड के टीके का ट्रायल किया गया. इसमें देखा गया कि वैक्सीन के डोज के बीच 6 हफ्ते के बजाय 12 हफ्ते का अंतर रखने पर शरीर में अच्छी खासी की इम्यूनिटी बूस्ट हुई. रिसर्च में यह भी पाया गया कि जिन लोगों ने 6 सप्ताह के अंदर ही दूसरी डोज ले ली थी उनमें 55% वैक्सीन का असर देखा गया जबकि गैप ज्यादा होने पर यह असर 81% तक देखा गया.

इसे भी पढ़ें- बंगाल के शिक्षा मंत्री की मूवी में नजर आएंगी TMC सांसद Nusrat Jahan, गैंगस्टर ‘हुब्बा श्यामल’ के जीवन होगी फिल्म

Latest News

Rajasthan: छेड़छाड़ और अश्लील मैसेज करता था कोचिंग संचालक फिर एक दिन…
आरोप है कि कोचिंग संचालक की बुरी नजर लाइब्रेरी में पढ़ने वाले वाली महिलाओं पर रहती थी. कई महिलाओं को संचालक ने…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *