Corona संक्रमित होने या ठीक होने के तुरंत बाद इसलिए नहीं लगवाए Corona Vaccine, एक्सपर्ट ने बताए ये कारण - Naya India
कोविड-19 अपडेटस | ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया|

Corona संक्रमित होने या ठीक होने के तुरंत बाद इसलिए नहीं लगवाए Corona Vaccine, एक्सपर्ट ने बताए ये कारण

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर (Corona 2nd Wave in India) अब अपने उतार पर आ गई है. लेकिन अभी खतरा गया नहीं है. इसलिए सरकार देष के प्रत्येक 18 साल आयु वर्ग के सभी लोगों को कोरोना वैक्सीन लगवाने की अपील कर रही है, ताकि इस महामारी को खत्म किया जा सके और देष का हर व्यक्ति सुरक्षित रहे. मरीजों को वैक्सीन लगाने को लेकर भी सरकार द्वारा गाइडलाइन जारी की गई है. भारत में टीकाकरण पर बनाई गई राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह की ओर से भी वैक्सीन लगवाने के समय को लेकर कई महत्वपूर्ण जानकारियां दी गई हैं. जिसके अनुसार कोरोना पॉजिटिव हुए लोगों को ठीक होने के 6 महीने के बाद ही वैक्सीन लगाई जानी चाहिए. आइए जानते हैं एक्सपर्ट की राय, कोरोना वैक्सीन अब और किसे लगवानी चाहिए.

ये भी पढ़ें:- क्या आपको पता है हाथी की सूंड में पानी को तीन लीटर प्रति सेंकेड की दर से खींचने की क्षमता होती है..आइये जानते है हाथी के बारे में कुछ रोचक तथ्य,

– एक्सपर्ट का मानना है कि कोरोना से रिकवर होने के बाद व्यक्ति को वैक्सीन कम से कम छह महीने बाद ही लगवानी चाहिए. क्योंकि कोविड मरीज में रिकवरी के दौरान नेचुरल इम्यूनिटी बनती है और उनके अंदर मौजूद एंटीबॉडीज भी उन्हें सुरक्षा प्रदान करते हैं. इसलिए कोरोना से रिकवर होने के बाद रुककर ही वैक्सीनेषन करवाना चाहिए.

– कोरोना टेस्ट कराने पर अगर रिपोर्ट पॉजिटिव आई हो, तो भी वैक्सीन की डोज नहीं लेनी चाहिए. एक्सपर्ट के मुताबिक, तब तक टीका नहीं लगवाना चाहिए जब तक कि संक्रमण से पूरी तरह से स्वस्थ्य नहीं हो जाते हैं. संक्रमण के दौरान वैक्सीन लगाने से खतरा बढ़ सकता है.

ये भी पढ़ें:- Right Or Wrong: लैब में तैयार हुआ ‘मां का दूध’, बाजार में बिकने के लिए तैयार

– जिन लोगों ने पहले ही कोई दूसरी वैक्सीन लगाई है उन्हें भी कोरोना की कोवैक्सीन नहीं लगानी चाहिए.
– एक्सपर्ट बताते है कि कोविडशील्ड में मौजूद इंग्रीडिएंट से एलर्जी है तो उन लोगों को कोविडशील्ड नहीं लगानी चाहिए. इसके साथ ही कोविशील्ड की पहली डोज लगाने के बाद अगर आपको एलर्जी होती है तो आपको दूसरी वैक्सीन नहीं लगानी चाहिए.


– डॉक्टरों के अनुसार, कोरोना संक्रमण के बाद शरीर में एंटीबॉडी बनने लगती है जो कि वैक्सीन से मिलने वाले असर के बराबर होती है. लेकिन कोरोना संक्रमण के दौरान जब वैक्सीन ली जाती है तो ये इम्यून रिस्पांस को बहुत प्रभावी तरीके से सक्रिय नहीं कर पाती है.

– भारत में अभी तक प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए कोई भी गाइडलाइन नहीं आई है. प्रेग्नेंट और ब्रेस्ट फीडिंग करवाने वाली महिलाओं को कोरोना की वैक्सीन नहीं लगानी चाहिए.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
बेगानी शादी में कांग्रेस का दीवानापन
बेगानी शादी में कांग्रेस का दीवानापन