Corona virus corona update
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Corona virus corona update

ओमिक्रॉन पर हाई अलर्ट!

Bihar Medicines home isolation

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन पर भारत में हाई अलर्ट हो गया है। केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को नए निर्देश भेजे हैं और तत्काल टेस्टिंग में बढ़ोतरी करने को कहा है। इसके साथ ही केंद्र सरकार ने यह भी कहा है कि ज्यादा से ज्यादा सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे जाएं और हॉटस्पॉट की निगरानी बढ़ाई जाए। वायरस के इस वैरिएंट को लेकर दुनिया भर में हड़कंप मचने का नतीजा यह हुआ है कि भारत में इस वैरिएंट का एक भी केस नहीं होने के बावजूद राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सख्ती बढ़ाने के लिए कहा गया है। साथ ही अभी से बचाव के उपायों की तैयारी करने को भी कहा गया है। Corona virus corona update

रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को निर्देश दिया है कि वे ओमिक्रॉन को लेकर सख्ती से क्वारैंटाइन और आइसोलेशन के नियम लागू करें। सभी राज्यों को एंटीजेन टेस्ट की बजाय आरटी-पीसीआर टेस्ट की संख्या तत्काल बढ़ाने को कहा गया है। केंद्र ने राज्यों से एक्टिव सर्विलांस शुरू कराने और आक्रामक तरीके से कांटैक्ट ट्रेसिंग का काम करने का आदेश दिया है। केंद्र ने कहा है कि ओमिक्रॉन वैरिएंट ऑफ कंसर्न है। इसलिए इसका तत्काल पकड़ में आना जरूरी है। इसके लिए ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग करें और हॉटस्पॉट्स पर निगरानी बढ़ाएं।

Corona virus corona update

Read also  पेपर लीक होने से यूपी में टीईटी परीक्षा रद्द

जिन देशों में कोरोना का यह नया वैरिएंट अब तक पाया जा चुका है, उन्हें एट रिस्क कंट्रीज की सूची में शामिल किया गया है। इसे लेकर राज्यों को निर्देश दिया गया है कि इन देशों से आने वाले यात्रियों के लिए अतिरिक्त सावधानी बरती जाए। केंद्र ने कहा है कि जो देश जोखिम वाली सूची में शामिल हैं वहां से आने वाले लोगों को क्वारैंटाइन किया जाए, उनकी आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य रूप से कराया जाए और संक्रमित पाए जाने पर उनके संपर्क में आने वाले हर व्यक्ति को तलाश कर इसे आइसोलेट किया जाए और उसका भी टेस्ट कराया जाए।

केंद्र ने राज्यों को निर्देश दिया है कि हर हाल में संक्रमण की दर पांच फीसदी से नीचे रखने का प्रयास करें। केंद्र ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से आने वाले यात्रियों की पिछली हवाई यात्राओं के बारे में जानकारी हासिल करने का सिस्टम राज्यों के पास है। सो, राज्यों के अपने स्तर से इसकी जांच करानी चाहिए। ताकि जोखिम वाले देशों से आने वाले लोगों की पहचान सही समय में हो सके। केंद्र ने बचाव के उपायों पर जोर देते हुए कहा है कि कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी सख्ती से पालन कराया जाए।

इसके लिए राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहा गया है कि वे अपने यहां टेस्ट बढ़ाने के साथ साथ कंटेनमेंट जोन बढ़ाएं, एक्टिव सर्विलांस रखें, वैक्सीनेशन कवरेज का दायरा और स्पीड बढ़ाएं ताकि इस वैरिएंट ऑफ कंसर्न यानी ओमिक्रॉन को भारत में आने या फैलने से रोका जा सके। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्यों से कहा है कि वे अपने टेस्टिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाएं और साथ ही इसके लिए भी तैयारी रखें कि अगर केसेज बढ़ते हैं तो संक्रमितों को किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
‘श्री कृष्ण’ नहीं ‘भगवान राम’ के शरण में जाएंगे योगी, BJP कर रही है मंथन …
‘श्री कृष्ण’ नहीं ‘भगवान राम’ के शरण में जाएंगे योगी, BJP कर रही है मंथन …