कोविड-19: नोएडा में 34 आवासीय इलाके सील - Naya India
देश | उत्तर प्रदेश | ताजा पोस्ट| नया इंडिया|

कोविड-19: नोएडा में 34 आवासीय इलाके सील

नोएडा। गौतम बुद्ध नगर प्रशासन ने बुधवार को कहा कि कोरोना वायरस प्रसार पर रोक के लिए नोएडा और ग्रेटर नोएडा के 34 आवासीय इलाके 15 अप्रैल तक सील रहेंगे। प्रशासन ने एक बयान में कहा ये इलाके अत्यधिक प्रभावित इलाकों का हिस्सा हैं जिसका मतलब है कि वहां पूर्व में कोविड-19 के मामले सामने आये हैं।

इस बीच, जिला मजिस्ट्रेट सुहास एल वाई ने गौतम बुद्ध नगर में सभी स्थानों पर आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं की घर पर आपूर्ति का आश्वासन दिया और लोगों से बाहर नहीं निकलने और घबराकर चीजों की खरीददारी से बचने का आग्रह किया।

एक आधिकारिक सूची के अनुसार, नोएडा में सील करने के लिए पहचाने गए इलाकों में सेक्टर 22, चौड़ा गांव, सेक्टर 27, 28, 37, 41, 44, सेक्टर 78 में हाइड पार्क और सेक्टर 74 में सुपरटेक कैपटाउन, सेक्टर 137 में लॉजिक्स ब्लॉसम काउंटी और पारस टिएरा तथा सेक्टर 150 में वाजिदपुर गांव, ऐस गोल्फशायर, जेपी विशटाउन सेक्टर 128, सेक्टर 93 बी में ग्रैंडओमेक्स, सेक्टर 5 और 8 जेजे कॉलोनी, सेक्टर 62 में डिजाइनर पार्क और सेक्टर 100 में लोटस बुलेवार्ड शामिल है। ग्रेटर नोएडा में, सेक्टर अल्फा I, जीटा I में एटीएस डोल्स, ओमनिक्रॉन III, सेक्टर 3, अछेजा गांव में महक रेजिडेंसी, स्टेलर एमआई ओमनिक्रॉन III और घोड़ी बाछेडा गांव को सील किए जाने वाले इलाकों के रूप में पहचान की गई है।

इसमें कहा गया कि सेक्टर 2 में निराला ग्रीनशायर, दादरी में विश्नोई गांव, सेक्टर 16 में पाम ओलंपिया ग्रेटर नोएडा (पश्चिम) के इलाके हैं जिन्हें नोएडा एक्सटेंशन भी कहा जाता है। लखनऊ में, अधिकारियों ने कहा कि गौतम बौद्ध नगर में 12 अत्यधिक प्रभावित इलाके सील किये जाएंगे। इस बीच अधिकारियों ने कहा कि नोएडा में तीन दिन के अंतराल के बाद कोरोना वायरस के दो ताजा मामले सामने आये। वहीं कोविड-19 के दो मरीजों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

अधिकारियों ने कहा कि गौतम बुद्ध नगर में कोविड-19 के मामलों की संख्या बुधवार को बढ़कर 60 हो गई, जबकि 12 मरीज अब तक ठीक हो चुके हैं और उन्हें अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है। स्वास्थ्य विभाग ने यहां अपने दैनिक बयान में कहा, ‘‘गौतम बौद्ध नगर से अब तक कुल 1,111 नमूनों को कोविड-19 जांच के लिए भेजा गया है और उनमें से 60 संक्रमित पाये गए हैं।

विभाग ने कहा, ‘‘दो नये मामले नोएडा के सेक्टर 74 में सुपरटेक कैपिटल और नोएडा के सेक्टर 22 के हैं। उन्होंने कहा, ‘‘अब तक 60 में से 12 मरीजों ठीक हो चुके हैं जबकि 48 अभी भी संक्रमित हैं। बयान में कहा गया है कि वर्तमान में, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में 1,182 लोग निगरानी में हैं जबकि 347 को जिले में अलग-अलग सुविधा केंद्रों और अस्पतालों में पृथक रखा गया है। विभाग ने कहा कि अब तक विशेष टीमों द्वारा 15,350 घरों का दौरा किया गया है और 53,582 लोगों की स्क्रीनिंग की गई है।

By हरिशंकर व्यास

भारत की हिंदी पत्रकारिता में मौलिक चिंतन, बेबाक-बेधड़क लेखन का इकलौता सशक्त नाम। मौलिक चिंतक-बेबाक लेखक-बहुप्रयोगी पत्रकार और संपादक। सन् 1977 से अब तक के पत्रकारीय सफर के सर्वाधिक अनुभवी और लगातार लिखने वाले संपादक।  ‘जनसत्ता’ में लेखन के साथ राजनीति की अंतरकथा, खुलासे वाले ‘गपशप’ कॉलम को 1983 में लिखना शुरू किया तो ‘जनसत्ता’, ‘पंजाब केसरी’, ‘द पॉयनियर’ आदि से ‘नया इंडिया’ में लगातार कोई चालीस साल से चला आ रहा कॉलम लेखन। नई सदी के पहले दशक में ईटीवी चैनल पर ‘सेंट्रल हॉल’ प्रोग्राम शुरू किया तो सप्ताह में पांच दिन के सिलसिले में कोई नौ साल चला! प्रोग्राम की लोकप्रियता-तटस्थ प्रतिष्ठा थी जो 2014 में चुनाव प्रचार के प्रारंभ में नरेंद्र मोदी का सर्वप्रथम इंटरव्यू सेंट्रल हॉल प्रोग्राम में था। आजाद भारत के 14 में से 11 प्रधानमंत्रियों की सरकारों को बारीकी-बेबाकी से कवर करते हुए हर सरकार के सच्चाई से खुलासे में हरिशंकर व्यास ने नियंताओं-सत्तावानों के इंटरव्यू, विश्लेषण और विचार लेखन के अलावा राष्ट्र, समाज, धर्म, आर्थिकी, यात्रा संस्मरण, कला, फिल्म, संगीत आदि पर जो लिखा है उनके संकलन में कई पुस्तकें जल्द प्रकाश्य। संवाद परिक्रमा फीचर एजेंसी, ‘जनसत्ता’, ‘कंप्यूटर संचार सूचना’, ‘राजनीति संवाद परिक्रमा’, ‘नया इंडिया’ समाचार पत्र-पत्रिकाओं में नींव से निर्माण में अहम भूमिका व लेखन-संपादन का चालीस साला कर्मयोग। इलेक्ट्रोनिक मीडिया में नब्बे के दशक की एटीएन, दूरदर्शन चैनलों पर ‘कारोबारनामा’, ढेरों डॉक्यूमेंटरी के बाद इंटरनेट पर हिंदी को स्थापित करने के लिए नब्बे के दशक में भारतीय भाषाओं के बहुभाषी ‘नेटजॉल.काम’ पोर्टल की परिकल्पना और लांच।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});