Corona Alert: कोविशिल्ड और कोवैक्सिन का 'कॉकटेल' लेना चाहते हैं, तो पढ़ लें ये खास रिपोर्ट - Naya India
कोविड-19 अपडेटस | ताजा पोस्ट | देश | पते की बात| नया इंडिया|

Corona Alert: कोविशिल्ड और कोवैक्सिन का ‘कॉकटेल’ लेना चाहते हैं, तो पढ़ लें ये खास रिपोर्ट

New Delhi: कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के कमजोर पड़ने के बाद अब वैक्सीनेशन पर लोगों का ध्यान है. लेकिन हाल में भारत में लगाई जा रही करो ना कि दोनों वैक्सीन कोवैक्सीन और कोविशिल्ड को लेकर संशय की स्थिति बन गई है. दरअसल दोनों वैक्सीन के प्रभाव को लेकर लोग उलझन में है. ऐसे में कुछ लोगों के दिमाग में यह भी चल रहा है कि अगर पहले उन्होंने कोविशिल्ड का डोज लिया हो तो वह दूसरी बार कोवैक्सीन लेकर कोरोना के संक्रमण से ज्यादा सेफ हो सकते हैं. सोशल मीडिया में भी तरह के कई पोस्ट वायरल हो रहे हैं. जहां लोग दोनों अलग-अलग वैक्सीन के डोज लेने की बात कर रहे हैं. आइए जानते हैं कि इस मसले पर विशेषज्ञों और डॉक्टरों क्या कहना है.

कॉकटेल दवाइयों के लेने से उल्टा असर

वैक्सीनेशन की प्रक्रिया को लेकर विशेषज्ञों का कहना है कि इसमें कोई शक नहीं है कि देश में वैक्सीन की किल्लत हो गई है. विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना से पूरी तरह से बचने के लिए वैक्सीन के दोनों डोज लेना जरूरी है. लेकिन विशेषज्ञ इस बात पर जोर देते हैं कह रहे हैं कि कभी भी दो अलग-अलग वैक्सीन लेने की गलती ना करें. उनका कहना है कि इस तरह से कॉकटेल दवाइयों के लेने से उल्टा असर पड़ सकता है. डॉक्टरों का कहना है कि शरीर पर इसका क्या प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा इस बारे में अभी कहना मुश्किल है लेकिन इतना स्पष्ट है कि इससे व्यक्ति विशेष को फायदा नहीं बल्कि नुकसान होने के चांसेस ज्यादा हैं.

इसे भी पढ़ें- COVID-19 Update: देश में कोरोना से मौतों का आंकड़ा 3 लाख पार, हर दिन हो रही 4 हजार से ज्यादा मौतें

अलग तरीकों से होता है वैक्सीन का निर्माण

विशेषज्ञों का कहना है कि अब तो बाजार में कई तरह की वैक्सीन आ गई है. विशेषज्ञों ने कहा कि बाजार में अलग-अलग तरह की वैक्सीन के डोज भी अलग-अलग है. कुछ वैक्सीन में दूसरे डोज की कोई आवश्यकता नहीं है जबकि भारत में लगाए जा रहे वैक्सीन में दो डोज पूरा करना आवश्यक है. डॉक्टरों का कहना है कि हर वैक्सीन के कार्य करने का अपना तरीका होता है ऐसे में दो अलग-अलग वैक्सीन के डोज लेना किसी भी हाल में सही नहीं कहा जा सकता है. विशेषज्ञों ने साफ तौर पर कहा कि लोगों को इस तरह की खुराफात करने से बचना चाहिए क्योंकि इससे नुकसान होने के चांसेस बहुत ज्यादा है.

इसे भी पढ़ें-  Cyclone ‘Yaas’  ने बरपाया कहर! भारी बारिश से यहां 80 घरों को नुकसान, दो की मौत, NDRF की टीमें पूरी तरह से अलर्ट

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *