Cyclone Tauktae Update: कई राज्यों में दिखने लगा तूफान ‘तौकते’ असर, केरल में भारी बारिश, NDRF की टीमें तैनात

Must Read

नई दिल्ली। अरब सागर में बन रहे चक्रवाती तूफान ‘तौकत’ ( Cyclone Tauktae ) का असर अब कई राज्यों में दिखने लगा है. केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, गुजरात और महाराष्ट्र में मौसम बदल गया है. मौसम विभाग के अनुसार, 24 घंटों में ‘तौकते’ ( Tauktae ) चक्रवाती तूफान ( Cyclone ) का रूप लेगा. ऐसे में कई राजयों में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है. केरल के तटीय इलाकों में चक्रवात के असर से समंद्र में उंची लहरें उठना शुरू हो गया है. केरल के तटीय कोल्लम, अलप्पुझा, एर्नाकुलम में तेज लहरों से कई मकानों को नुकसान पहुंचा है. बारिश से करमना व किल्ली नदियों में जलस्तर उफान पर आ गया है. निचले इलाकों के लोगों को सुरक्षित जगह भेजा जा रहा है.

यह भी पढ़ेंः-  राजस्थान पर मंडरा रहा पश्चिमी विक्षोभ, दो दिन इन जिलों में बारिश और ओलावृष्टि

चक्रवाती तूफान ‘तौकते’ 16 मई यानि कल पश्चिमी तट से टकराएगा. जिससे गुजरात में 16 से 18 मई के बीच भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है. ऐसे में सभी आपदा दलों को भी अलर्ट कर दिया गया है.

 दक्षिण पूर्वी अरब सागर की खाड़ी में शुक्रवार को अति कम दबाव का क्षेत्र डिप्रेशन बन चुका है। अगले 24 घंटों में और तीव्र होकर चक्रवाती तूफान के रूप में परिर्वितत होने और उत्तर उत्तर-पश्चिमी दिशा में आगे बढ़ कर 18 मई को गुजरात तट की तरफ पहुंचने की संभावना है।

मानसून की बढ़ेगी रफ्तार
भारतीय मौसम विभाग ने अभी तक दक्षिणी-पश्चिमी मानसून को हिंदी महासागर में ऑनसेट नहीं किया है। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, तौकते की वजह से मानसूनी हवाओं को गति मिल सकती है। मौसम विभाग अगले सप्ताह मानसून को ऑनसेट बता सकता है।

राजस्थान में भी होगा तूफान का असर
चक्रवाती तूफान तौकते के असर से 16 मई से दक्षिणी राजस्थान के जोधपुर, उदयपुर, अजमेर व कोटा संभाग के जिलों में आंधी व बारिश होगी। 17 मई को मेघगर्जन के साथ बारिश की गतिविधियों में और बढ़ोतरी होगी। जोधपुर, उदयपुर, कोटा, अजमेर और बीकानेर संभाग के जिलों में कुछ स्थानों पर थंडरस्टॉर्म व तेज हवाओं के साथ कहीं कहीं मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना है। जबकि जोधपुर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश होने की संभावना है।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जानें सत्य

Latest News

‘चित्त’ से हैं 33 करोड़ देवी-देवता!

हमें कलियुगी हिंदू मनोविज्ञान की चीर-फाड़, ऑटोप्सी से समझना होगा कि हमने इतने देवी-देवता क्यों तो बनाए हुए हैं...

More Articles Like This