आदिवासी नेता बट्टी की मौत की जांच हो: कमलनाथ

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर अखिल भारतीय गोंडवाना पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व विधायक आदिवासी नेता मनमोहन शाह बट्टी की मौत की जांच उच्च स्तरीय समिति या सीबीआई से कराए जाने का अनुरोध किया है।

कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि मनमोहन शाह बट्टी का आकस्मिक निधन दो अगस्त को हो गया था।

शोकाकुल परिवार को संवेदना देने जब उनके गृह ग्राम देवरी गया तो वहां के आदिवासी समाज के वरिष्ठजनों और अन्य लोगों ने बट्टी की मृत्यु को संदेहास्पद बताया और शंकाओं के समाधान के लिए उनकी मौत की जांच की जरूरत बताई। कमलनाथ ने अपने पत्र में चौहान को लिखा है कि बट्टी की मृत्यु अप्रत्याशित रूप से हुई है, वह आदिवासी समाज के लोकप्रिय और बड़े नेता थे।

उनकी मृत्यु के कारण संपूर्ण आदिवासी समाज में संदेह होने के साथ आक्रोश की स्थिति है, इसलिए आदिवासी समाज के मानस में उपजे अविश्वास एवं शंका के समाधान हेतु यह आवश्यक है कि बट्टी की मृत्यु की विश्वसनीय एजेंसी के माध्यम से निष्पक्ष, विस्तृत एवं गहन जांच हो, जिससे उनकी मृत्यु के स्पष्ट तथ्य सामने आ सकें और आदिवासी समाज का विश्वास बना रहे।

पूर्व मुख्यमंत्री ने बट्टी की मृत्यु की जांच एक उच्च स्तरीय समिति अथवा सीबीआई के माध्यम से कराए जाने का अनुरोध किया है। ज्ञात हो कि बटटी को भोपाल के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था और वे कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। अस्पताल में ही उनकी मृत्यु हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares