nayaindia Demonstrations China चीन के कई शहरों में प्रदर्शन
kishori-yojna
ताजा पोस्ट | विदेश| नया इंडिया| Demonstrations China चीन के कई शहरों में प्रदर्शन

चीन के कई शहरों में प्रदर्शन

fdi rule china investment

बीजिंग। चीन में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए देश की साम्यवादी सरकार द्वारा अपनायी गयी सख्त नीति के खिलाफ राजधानी बीजिंग सहित देश के विभिन्न शहरों में लोगों ने अभूतपूर्व प्रदर्शन शुरू किए हैं। जनता लॉकडाउन और आने-जाने के प्रतिबंधों को उठाने की मांग कर रही है और साथ ही चीन की साम्यवादी पार्टी के शासन का भी विरोध शुरू हो गया है और लोग राष्ट्रपति शी जिनपिंग के इस्तीफे की भी मांग कर रहे हैं।

चीन में चल रहे प्रदर्शन बीजिंग से शुरू होकर तेजी से लॉन्चो, शियान, चोंगकिंग, वुहान, झेंगझोऊ, कोरला, होटन, ल्हासा, उरुमकी, शंघाई, नानजिंग, शिजियाझुआंग शहरों तक फैल गए हैं। पिछले तीन दिनों से इन प्रदर्शनों के दौरान कहीं-कहीं पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच टकराव की भी खबरें आ रही हैं। पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया है।

शंघाई में प्रदर्शन के दौरान बीबीसी के एक पत्रकार एड लॉरेंस को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उसे रिहा करने से पहले उसके साथ मारपीट की गयी। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार प्रदर्शनकारी शी जिनपिंग से नाराज है और उनके इस्तीफा की मांग कर रहे हैं। शंघाई में चल रहे प्रदर्शन में लोगों ने गद्दी छोड़ो, साम्यवाद पार्टी गद्दी छोड़ो, चीन से प्रतिबंध हटाओ, पीसीआर टेस्ट नहीं चाहिए, पत्रकारों को आजादी दो। इस दौरान शंघाई में भारी पुलिस पल देखा गया जो लोगों को प्रदर्शन करने से रोक रहा है।

रिपोर्ट के अनुसार चीन में पिछले 10 महीनों से शून्य कोविड नीति लागू है, जिसे लेकर कई तरह की पाबंदियां लगायी गयी हैं। चीन के शिंजियांग में 25 नवंबर को एक इमारत में आग लग गयी थी। जिसमें लॉकडाउन के कारण समय से राहत नहीं पहुंच सकी और हादसे में 10 लोगों की मौत हो गयी। इस हादसे के बाद लोगों का गुस्सा और भड़क गया। उन्होंने अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप लगाया। इसके बाद से लोग सड़कों पर उतर आए और प्रदर्शन करने लगे।

रिपोर्ट के मुताबिक नए नियमों में लोगों को ढील दी गयी है और आर्थिक मोर्चे पर इसका कम नुकसान पहुंचे इसका ध्यान रखा गया है। कोरोना के मामले बढ़ने से स्थानीय अधिकारी कड़े नियमों में रियायत देने को तैयार नहीं है और वह शून्य कोविड नीति को अमल में ला रहे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 + three =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
जी20 सम्मेलन से पहले पुलिस बूथों का नवीनीकरण
जी20 सम्मेलन से पहले पुलिस बूथों का नवीनीकरण