Earthquake in Uttarakhand Today: रिक्टर पैमाने पर तीव्रता रही 4.6
देश | उत्तराखंड | ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Earthquake in Uttarakhand Today: रिक्टर पैमाने पर तीव्रता रही 4.6

Uttarakhand में भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर तीव्रता रही 4.6, नींद में उठकर घर से बाहर भागे लोग

जोशीमठ | Earthquake in Uttarakhand Today: उत्तराखंड में इस बार जमकर प्रकृति का कहर बरप रहा है। यहां लगातार भारी बारिश, बादल फटने की घटनाएं, भूस्खलन के साथ भूकंप लोगों को नुकसान पहुंचा रहा है। उत्तराखंड में एक बार फिर भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। जोशीमठ (Joshimath) से 31 किलोमीटर पश्चिम दक्षिण पश्चिम में आज तड़के 5ः58 बजे भूकंप के झटके आए हैं। सुबह-सुबह लगे भूकंप (Earthquake) के झटकों से लोग दहशत में आ गए। धरती हिली तो लोग अपने-अपने घरों से बाहर निकल कर भागे। हालांकि भूकंप से कहीं भी किसी भी तरह के नुकसान की खबर नहीं है।

ये भी पढ़ें :- Rajasthan : गवाही के लिए अब कोर्ट जाने की जरूरत नहीं, ‘वीडियो कांफ्रेंस’ के माध्यम से भी दर्ज हो सकेगा बयान…

भूकंप की तीव्रता 4.6 रही
नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के अनुसार, उत्तराखंड के जोशीमठ जिले में महसूस किए गए Earthquake की रिक्टर स्केल पर तीव्रता 4.6 रही। भूकंप के लिहाज से उत्तराखंड बेहद संवेदनशील राज्यों में गिना जाता है। उत्तराखंड भूकंप के जोन 5 में आता है।

ये भी पढ़ें :- राहुल गांधी ने फिर कहा- मैं कश्मीरी पंडित हूं, मेरा परिवार भी…

in Himachal Pradesh

कई जिलों में तेज झटके, दहशत में आए लोग
Earthquake in Uttarakhand Today: आज एक भूंकप के झटके उत्तराखंड के चमोली, पौड़ी, अल्मोड़ा आदि जिलों में तेज झटके महसूस किए गए। जिससे लोगों में दहशत फैल गई और लोग सुबह-सुबह की नींद में ही घबराकर घरों से बाहर दौड़ पड़ें। बता दें कि उत्तराखंड में इससे पहले अगस्त में देहरादून में 3.8 तीव्रता का भूकंप आया था और उससे भी पहले 24 जुलाई को देर रात उत्तरकाशी जिले में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे वहां भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 3.4 मापी गई थी।

ये भी पढ़ें :- Mathura- Vrindavan : श्री कृष्ण जन्म स्थल के 10 किलोमीटर का दायरा तीर्थस्थल घोषित, मांस-मदिरा की बिक्री पर भी लगी रोक

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
भाजपा के कांग्रेसीकरण की शुरूआत ! जो समझा वो रहा, नहीं समझने वाले गया…
भाजपा के कांग्रेसीकरण की शुरूआत ! जो समझा वो रहा, नहीं समझने वाले गया…